दैनिक भास्कर हिंदी: पन्ना में निकाली गई भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा -सीएम के आदेश पर मिली अनुमति , लगाया गया कर्फ्यू

June 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क पन्ना। बुंदेलखण्ड के पन्ना जिलें में 170 साल पुरानी रथयात्रा निकाले जाने को कुछ घंटे पहले मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अनुमति मिल गई । जिला प्रशासन द्वारा रथयात्रा के आयोजन को लेकर पूर्व में कोई तैयारियां नही की गई थी परंतु दो दिनों से जिले के श्रृद्धालुओ के रथयात्रा निकालने को लेकर लगातार मांग रखे जाने की आवाज प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास पहुंची जहां उन्हे खजुराहों संसदीय क्षेत्र के संसद एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा तथा पन्ना विधानसभा क्षेत्र के विधायक बृजेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा रथयात्रा के ऐतिहासिक महत्व और इसकी परंम्पराओं की जानकारी दी गई, जिस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कहा गया कि परम्परा नही टूटनी चाहिये और श्रृद्धालुओं की आस्था को ठेस नही पहुंचे इस संबंध में जिले के कलेक्टर को रथयात्रा निकाले जाने के संबंध में निर्देशित किया गया। सरकार द्वारा रथयात्रा को लेकर दी गई सहमति के बाद जिला प्रशासन तत्काल ही एक्शन मे आया और रथयात्रा के आयोजन को सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही किये जाने का निर्णय लिया गया। पुलिस, राजस्व तथा प्रशासनिक अधिकारियों एवं रथयात्रा के आयोजन से जुड़े श्रृद्धालुओं से इस संबंध में बातचीत करते हुये रथयात्रा की परम्परा बनी रहे इसके लिये प्रशासन के नियंत्रण में रथयात्रा निकालें जाने का निर्णय लिया गया और पहले दिन के रथयात्रा के मार्ग को रथयात्रा प्रारंभ होने से पहले कफ्र्यू क्षेत्र घोषित किया गया तथा आम श्रृद्धालुओं को रथयात्रा मे शामिल होने के लिये प्रतिबंधित किया गया। जिला कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और पुलिस अधीक्षक मंयक अवस्थी द्वारा सुबह लगभग 12 बजे से रथयात्रा मार्ग क्षेत्र को टोटल लॉक डाउन करने के लिये कमान संभाली तथा रथयात्रा मार्ग से जुड़ी सभी गलियों में पुलिस बेरीकेट्स लगाते हुये सुरक्षा के लिये पुलिस बल की तैनाती की गई। 
पूजा अर्चना के साथ रथों में सवार होने के लिये निकले भगवान 
परम्परागत तरीके से पन्ना की प्राचीन रथयात्रा महोत्सव का आगाज आज शाम को लगभग शाम 5 बजे हुआ। बड़ा दिवाला मंदिर से भगवान जगन्नाथ स्वामी, बहिन देवी सुभद्रा तथा बड़े भाई बलभद्र की विग्रह प्रतिमाएं पूजा अर्चना के साथ मंदिर के पुजारियों और राज परिवार के सदस्यों द्वारा पूजा अर्चना करते हुये बाहर लाई गई। मंदिर स्थित सिंह द्वार में खड़े तीन अलग अलग भव्य रथों में दूल्हा स्वरूप में भगवान जगन्नाथ स्वामी बहिन सुभद्रा एवं बडे भाई बलभद्र जी की प्रतिमाएं बैठाई गई। 
शस्त्र पुलिस ने भगवान के सम्मान में पेश किया गॉड ऑफ आनर
रथयात्रा प्रारंभ होने के अवसर पर परम्परा के अनसार बड़ी संख्या मे सशस्त्र पुलिस जवान उपस्थित थे जिनके द्वारा राजसी परम्परा का पालन करते हुये भगवान के सामनें गॉड ऑफ ऑनर पेश किया गया और इसके बाद पन्ना महाराज राघवेन्द्र सिंह जू देव तथा राज परिवार के वरिष्ठ सदस्य लोकेन्द्र सिंह जू देव द्वारा भगवान के रथ को धक्का देते हुये आगे बढाया और इसके साथ ही रथयात्रा की शुरूआत हो गई।