दैनिक भास्कर हिंदी: राऊत की सफाई - उद्धव ने पवार से नहीं की राकांपा के मंत्रियों की शिकायत

May 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राऊत ने स्पष्ट किया है कि राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सरकार चलाने और राकांपा के मंत्रियों को लेकर कोई नाराजगी व्यक्त नहीं की है। राऊत ने कहा कि पवार का दिल से महाविकास आघाड़ी सरकार को पूरा आशीर्वाद है। सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी। गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में राऊत ने उन खबरों को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें दावा किया गया था कि मुख्यमंत्री ने पवार से कहा है कि महाविकास आघाड़ी सरकार को टिकाए रखना अकेले शिवसेना की जिम्मेदारी नहीं है। मुख्यमंत्री ने राकांपा के मंत्रियों के बर्ताव को लेकर भी शिकायत की है। इस सवाल पर राऊत ने मीडिया से पूछा किमुख्यमंत्री की नाराजगी की बात आपको किसने कही। उन्होंने कहा कि मीडिया को अफवाहों पर विश्वास नहीं करना चाहिए। राऊत ने नसीहत देते हुए कहा कि अफवाहों पर विश्वास करते हुए पत्रकारिता करना अपराध है। राऊत ने कहा कि पवार ने मुख्यमंत्री से मराठा आरक्षण, पदोन्नति में आरक्षण, कोरोना महामारी और टीकाकरण समेत कई मुद्दों पर चर्चा की है। राऊत ने कहा किहर बैठक में राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा करना जरूरी नहीं है। गौरतलब है कि बुधवार को पवार ने मुख्यमंत्री ठाकरे स मुलाकात की थी। 

राकांपा के मंत्रियों ने मुख्यमंत्री पर सवाल खड़े नहीं किए- मलिक

दूसरी ओर राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता तथा राज्य के अल्पसंख्याक मंत्री नवाब मलिक ने स्पष्टीकरण दिया है कि राकांपा के मंत्रियों और नेताओं द्वारा मुख्यमंत्री के कामकाज की पद्धति पर सवाल खड़े करने के बारे में जो मौहाल बनाया जा रहा है वह अफवाह है। राकांपा के किसी मंत्री ने मुख्यमंत्री की कार्यपद्धति पर कोई सवाल नहीं खड़े किए हैं। सरकार एकजुट होकर काम कर रही है। मलिक ने कहा कि पवार ने मुख्यमंत्री से कोरोना की स्थिति, टीकाकरण और लॉकडाउन समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की है। 

मुख्यमंत्री के आवास पर शांति यज्ञ की जरूरत- राणे 

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री तथा भाजपा सांसद नारायण राणे ने शिवसेना पर हमला बोला था। बुधवार को उन्होंने ने विधान परिषद में राज्यपाल कोटे की रिक्त 12 सीटों पर नियुक्ति न करने पर सवाल उठाने पर कहा था कि भूत राजभवन में नहीं है बल्कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सरकारी आवास वर्षा, निजी आवास मातोश्री और मंत्रालय में भूत है। शिवसेना को वर्षा और मातोश्री में शांति यज्ञ कराना चाहिए। बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में राणे ने कहा कि शिवसेना कह रही है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के निवास स्थल राजभवन में भूत है तो मुख्यमंत्री के आवास में भूत नहीं है क्या? वहां लोगों का पैसों के लिए शोषण किया जाता है। इससे पहले शिवसेना सांसद संजय राऊत ने कहा था कि विधान परिषद में 12 उम्मीदवारों को नियुक्त करने के लिए राज्य मंत्रिमंडल की सिफारिश वाली फाइल को राजभवन से भूतों ने चुरा लिया है क्या?