दैनिक भास्कर हिंदी: विनायक राऊत बोले - नॉन मैट्रीक राणे का केंद्र में मंत्री बनना सिंधुदुर्ग का दुर्भाग्य

February 9th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भाजपा सांसद नारायण राणे को केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में जगह मिलने की संभावनाओं के बीच शिवसेना सांसद विनायक राऊत ने उन पर तल्ख टिप्पणी की है। मंगलवार को राऊत ने राणे को नॉन मैट्रिक बताया। उन्होंने कहा कि इतने बड़े देश के केंद्रीय मंत्रिमंडल में राणे जैसे एक नॉन मैट्रिक आदमी को मंत्री पद देने की नौबत आई तो यह सिंधुदुर्ग का दुर्भाग्य होगा। राऊत के आरोपों पर राणे के बेटे तथा पूर्व सांसद नीलेश राणे ने जोरदार पलटवार किया है। नीलेश ने कहा कि राऊत ने यदि अपनी भाषा नहीं बदली तो वे जहां दिखेंगे वहां तमाचा मारूंगा। नीलेश ने कहा कि राऊत खुद नॉन मैट्रिक हैं। राऊत की दो पत्नियां हैं। राऊत में सांसद का एक भी गुण नहीं है। नीलेश ने कहा कि राऊत खुद भूल गए हैं कि उनकी हैसियत क्या है।

नीलेश ने कहा भाषा ठीक नहीं की तो मारुंगा तमाचा 

राऊत भाजपा की लहर में दो बार सांसद बने हैं। अगर उनमें में हिम्मत है तो वे सांसद पद से इस्तीफा देकर दोबारा चुनाव में उतरे। फिर देखें कि उन्हें कितने वोट मिलते हैं और वे जीतकर आते हैं क्या? लेकिन राऊत इतनी हिम्मत नहीं कर पाएंगे क्योंकि उन्हें भी पता है कि वे मोदी लहर में जीतकर आए हैं। नीलेश ने कहा कि राऊत का समय करीब आ गया है। मैं साल 2024 के लोकसभा चुनाव में उनका बंदोबस्त कर दुंगा। मैं उन्हें हमेशा के लिए कोंकण से हटा दुंगा। 

खबरें और भी हैं...