दैनिक भास्कर हिंदी:  शिवसेना सांसद संजय राऊत बोले - उद्धव पांच साल तक बने रहेंगे सीएम

June 13th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राऊत ने कहा है कि प्रदेश की महाविकास आघाड़ी सरकार में मुख्यमंत्री पद पांच साल तक शिवसेना के पास बना रहेगा। उन्होंने कहा कि शिवसेना और राकांपा के बीच ढाई- ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ था। शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पांच साल तक बने रहेंगे।

रविवार को शिवसेना के मुखपत्र सामना के साप्ताहिक स्तंभ रोखठोक में राऊत ने कहा कि मुख्यमंत्री के दिल्ली दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अलग से मुलाकात के बाद राज्य की राजनीति में खलबली मची हुई है। भाजपा किसी भी परिस्थिति में राज्य में सत्ता स्थापित करना चाहती है। इसलिए भाजपा की ओर से नए राजनीतिक समीकरण को लेकर अफवाहें उड़ाई जा रही है।

भाजपा की ओर से प्रचार किया जा रहा है कि महाविकास आघाड़ी सरकार के ढाई साल होने पर राकांपा मुख्यमंत्री पद पर दावेदारी ठोकेगी। इससे महाविकास आघाड़ी में विवाद पैदा होगा। जिसके बाद राज्य में नई राजनीतिक घटनाओं में तेजी आएगी। लेकिन इसमें कोई सच्चाई नहीं है। महाविकास आघाड़ी में शिवसेना को मुख्यमंत्री पद का वचन पांच साल दिया गया है। इसलिए मुख्यमंत्री उद्धव पांच साल तक अपने पद पर बने रहेंगे। 

राकांपा ने ढ़ाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद नहीं मांगा- मलिक
राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता तथा प्रदेश के अल्पसंख्यक नवाब मलिक ने कहा कि महाविकास आघाड़ी के गठबंधन के गठन के समय राकांपा ने ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद नहीं मांगा था। मलिक ने कहा कि भाजपा में बेचैनी है क्योंकि मुख्यमंत्री ठाकरे के अगुवाई में सरकार अच्छा काम कर रही है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सरकार पांच साल तक का कार्यकाल पूरा करेगी।

इसी बीच मलिक ने कहा कि भाजपा के पश्चिम महाराष्ट्र और मराठवाड़ा कई विधायक राकांपा और कांग्रेस में घर वापसी की कोशिश में है। इसके लिए भाजपा के कुछ विधायकों ने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात भी की है। लेकिन राकांपा ने विधायकों के घर वापसी कराने के बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया है। 

शिवसेना में आत्मविश्वास का अभाव- दरेकर
विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा कि हम शिवसेना को पांच साल तक मुख्यमंत्री पद के लिए शुभकामनाएं देते हैं लेकिन शिवसेना में आत्मविश्वास के कमी के कारण राऊत ने यह बयान दिया है। क्योंकि राकांपा और कांग्रेस अभी अपना-अपना मुख्यमंत्री बनाने के लिए तैयारी करती नजर आ रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने मुख्यमंत्री बनने की इच्छा भी जताई है। 
 

खबरें और भी हैं...