comScore

बागियों का दम : शिवसेना भाजपा उम्मीदवारों को पछाड़ा, उतार-चढाव भरे मुकाबले में जीते कुंभारे

बागियों का दम : शिवसेना भाजपा उम्मीदवारों को पछाड़ा, उतार-चढाव भरे मुकाबले में जीते कुंभारे

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विधानसभा चुनाव में पार्टी टिकट पाने से चूके नेताओं ने बगावत करके अपना बल दिखाया है।  कुछ सीटों पर सीधे जीत के करीब पहुंच गए है तो कुछ सीटों पर अपनी पार्टी के उम्मीदवारों को पीछे रहने की स्थिति में पहुंचा दिया है। नागपुर जिले की रामटेक विधानसभा सीट से शिवसेना के बागी आशीष जैस्वाल ने निर्दलीय चुनाव लड़कर मैदान मार लिया है। भंडारा में शिवसेना के बागी नरेंद्र भोंडेकर, तुमसर में भाजपा के बागी चरण वाघमारे व गोंदिया में भाजपा के बागी विनोद अग्रवाल चुनाव जीत चुके हैं। हालांकि उनकी जीत की घोषणा फिलहाल नहीं हो पायी। रामटेक लोकसभा क्षेत्र में शिवसेना का सांसद होने के बाद भी भाजपा शिवसेना गठबंधन के तहत शिवसेना को सीट नहीं मिल पायी थी। आशीष जैस्वाल शिवसेना से 2 बार विधायक रहे हैं। 2014 में गठबंधन नहीं होने से भाजपा के साथ मुकाबलेे में जैस्वाल पराजित हो गए थे। बाद में उन्हें राज्य खनिज महामंडल का अध्यक्ष बनाया गया। पेशे से वकील आशीष जैैस्वाल विदर्भ में शिवसेना के प्रमुख नेताओं में शामिल हैं। टिकट नहीं मिलने पर उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा। भाजपा उम्मीदवार व विधायक मलिकार्जुन रेड्डी को उन्होंने 38 हजार वोटों के अंतर से पराजित कर दिया है।

कमेंट करें
DuxLE