दैनिक भास्कर हिंदी: आंख-मिचौली के बाद जमकर बरसे बदरा, रिकॉर्ड 282 मिमी बरसात

July 8th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भारी बारिश की चेतावनी से सहमे शहर ने शुक्रवार सुबह हल्की फुहारों के बाद राहत की सांस ली थी। दिन में अच्छी धूप भी खिली थी। लगा संकट टल गया है, लेकिन रात लगभग 10 बजे के आस-पास मौसम में बदलाव होने लगा। लगभग आधे घंटे बाद शहर के कई इलाकों में हल्की बारिश होने लगी और फिर 11 बजे के करीब तेज हवाओं के बीच बिजली की कड़कड़ाहट के साथ घनघोर बारिश शुरू हो गई। इसके पहले शुक्रवार को नागपुर जिले में शुक्रवार को रिकार्ड 282 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश से हुई तबाही के सर्वे का काम प्रशासन की तरफ से शुरू हाे गया है। मौसम विभाग ने अगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी दी थी, लेकिन हवा की दिशा बदल जाने के कारण शनिवार को दिन भर नागपुर शहर में बारिश नहीं हुई।

क्षतिपूर्ति दी जाएगी
नागपुर जिले में भारी बारिश से जिले के 20 गांव प्रभावित हुए हैं। 284 परिवार भी प्रभावित हुए है। 39 परिवारों को जिला परिषद की स्कूलों में आश्रय दिया गया है। इसमें जिले के गोगली के 12, विहिरगांव के 23, बेलतरोड़ी के 4 परिवार शामिल हैं। बारिश व बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने का काम प्रशासन की तरफ से शुरू हुआ है। बेसा में एक व्यक्ति की आैर पिपला में 7 जानवरों की मौत हुई है। प्रभावित परिवारों में किसी का अनाज बह गया तो किसी का खराब हो गया। सर्वेक्षण कर प्रभावित परिवारों को प्रशासन की तरफ से क्षतिपूर्ति दी जाएगी। मौसम विभाग की ओर से दो दिन भारी बारिश की चेतावनी जारी होने के बाद  जिला प्रशासन ने राहत टीमें जगह-जगह तैनात की हैं। संवेदनशील स्थानों पर विशेष चौकसी के निर्देश दिए गए हैं। शुक्रवार को मनपा के दमकल विभाग को राहत व बचाव के लिए रिकार्ड 250 कॉल आए थे।