दैनिक भास्कर हिंदी: माण्डवा बस्ती में हुई हत्या का खुलासा: धार्मिक स्थल पर शराब पीने से मना किया, तो चाकूओं से कर दी हत्या

December 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। जबलपुर के रामपुर मांडवा बस्ती में हुई युवक की निर्मम हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपियों ने युवक की हत्या महज इसलिए कर दी, क्योंकि उसने धार्मिक स्थल पर शराब पीने से आरोपियों को मना किया था। मृतक सत्यम की हत्या किए जाने से क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश व्याप्त रहा, घटना की खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी तत्काल मौके पर पहुंच गए, जिन्होने क्षेत्रीय लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा था। पुलिस ने मामले में गंभीरता बरतते हुए हत्या के आरोपियों को सरगर्मी से तलाश करते हुए दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है, जबकि एक अब भी फरार है।

चाकूओं से किया हमला
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मांडवा बस्ती रामपुर के समीप शारदा मंदिर में रात के वक्त क्षेत्र के बदमाश भूरा उर्फ इस्लाम व राजा नामक बदमाश शराब पी रहे थे, दोनों बदमाशों को मंदिर परिसर में शराब पीते देख सत्यम सेन नामक युवक पहुंच गया, जिसने दोनों को शराब पीने से मना किया, इसी बात को लेकर झगड़ा हो गया, दोनों बदमाशों ने सत्यम के साथ गाली गलौज करते हुए मारपीट कर दी, सत्यम ने विरोध किया तो दोनों ने चाकू निकालकर सत्यम पर दनादन वार किए।

सरगर्मी से की आरोपियों की तलाश
धार्मिक स्थल पर हत्या की खबर से क्षेत्र में सनसनी फैल गई, देखते ही देखते बस्ती के लोगों की भीड़ जमा हो गई, जिन्होंने हत्या की वारदात पर आक्रोश व्यक्त करते हुए प्रदर्शन शुरु कर दिया, वहीं घटना की खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी भी बल सहित मौके पर पहुंच गए, उन्हे भी क्षेत्रीय लोगों सहित परिवार के गुस्से का सामना करना पड़ा, यहां तक कि कुछ लोगों ने इसे साम्प्रदायिक रंग देने तक की कोशिश की। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए दोनों आरोपियों को सरगर्मी से तलाश करते हुए हिरासत में ले लिया।  

घेराबंदी कर किया गिरफ्तार
टीम के द्वारा मांडवा बस्ती में दबिश देते हुये घेराबंदी कर भूरा उर्फ इस्लाम पिता नासिर खान उम्र 22 वर्ष एवं राजा तिवारी पिता जगदीश प्रसाद तिवारी उम्र 19 वर्ष दोनों निवासी शिवाजी नगर माण्डवा वस्ती को पकड़ा गया। जित्तू उर्फ शेर खान पिता नासिर खान उम्र 31 वर्ष पहाड़ी का फायदा उठाकर भागने में सफल हो गया। पकड़े गये आरोपी भूरा उर्फ इस्लाम एवं राजा तिवारी से सघन पूछताछ करते हुये दोनों आरोपियों की निशादेही पर घटना के वक्त पहने हुये कपड़े जिसमें खून लगा हुआ है एवं घटना में प्रयुक्त बटनदार चाकू भूरा उर्फ ईस्लाम से जब्त किया गया है।

इनकी रही विशेष भूमिका
तत्काल घेराबंदी कर आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी गोरखपुर उमेश तिवारी, चौकी प्रभारी रामपुर उपनिरीक्षक हेमंत यादव, सउनि राजेश अहिरवार, प्रधान आर. इन्द्रजीत तिवारी, आरक्षक कंछेदी पटेल की सराहनीय भूमिका रही है।