दैनिक भास्कर हिंदी: CA एग्जाम में संतरानगरी के सक्षम जैन चमके, आल इंडिया 27वीं रैंक मिली

July 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) ने शुक्रवार को CA परीक्षा के नतीजे जारी किए। इसमें शहर के वर्धमान नगर के देशपांडे ले-आउट निवासी सक्षम जैन ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। उन्होंने ऑल इंडिया में 27वीं रैंक हासिल की है। ICAI द्वारा जारी सूचना के अनुसार इस साल मई में हुई CA फाउंडेशन परीक्षा में देश भर से कुल 6315 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इसमें 3 हजार 877 छात्र और 2438 छात्राओं का समावेश था।

कुल परीक्षार्थियों में से 1 हजार 215 परीक्षार्थी (19.24%) सफल हुए । कुल 682 छात्र (17.59%) और 533 छात्राएं (21.86%) परीक्षा में सफल हुए, वहीं जून में हुई सीपीटी परीक्षा में देशभर से कुल 54474 परीक्षार्थी शामिल हुए, जिसमें से कुल 15284 परीक्षार्थी (28.06%) सफल हुए। इसमें 24512 छात्र और 29962 छात्राएं थीं। इसमें से 8368 (27.93%) छात्र और 6916 (28.21%) छात्राएं परीक्षा में सफल हुए। 

लगन के साथ पढ़ाई करने से मिली सफलता
मुझे जो सफलता मिली है, उसमें मेरी मेहनत और लगन छिपी हुई है। करियर बनाने के लिए सभी चीजें छोड़कर पढ़ाई पर ध्यान देना जरूरी है। अनुशासन का भी जीवन में होना आवश्यक है, तभी सफलता मिलती है। इसका मतलब ये नहीं है कि, सोशल नहीं होना है। मई 2018 में अायोजित हुई CA फाइनल की परीक्षा में शहर के वर्धमान नगर स्थित देशपांडे ले-आउट निवासी सक्षम जैन को ऑल इंडिया रैंक 27 मिली है।

उन्होंने कहा कि वे फुल टाइम स्टडी के लिए देते थे। क्रिकेट उनका पसंदीदा खेल है। इसलिए कभी-कभी एंटरटेनमेंट के लिए क्रिकेट भी देख लेते थे। उन्होंने CA फाइनल की परीक्षा की तैयारी मुंबई जाकर की। इसके साथ ही वे कई क्विज में पार्टिसिपेट कर विनर भी रह चुके हैं। 2013 में आरबीआई क्विज में सिलेक्ट होने के बाद वे नेशनल लेवल तक पहुंचे थे।

सक्षम जैन सेंटर प्वाइंट, काटोल रोड के स्टूडेंट हैं। पिछले वर्ष ही उन्होंने बी.कॉम की डिग्री हासिल की है। वे अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को देते हैं। साथ ही उन्होंने जूनियर स्टूडेंट, जो CA करना चाहते हैं, उन्हें संदेश दिया कि सबसे पहले मन से यह डर निकालना होगा कि, वे CA का एग्जाम क्लियर कर पाएंगे या नहीं। बस पूरा ध्यान पढ़ाई पर लगाना होगा।

मेहनत रंग लाई
सक्षम के माता-पिता सुमन व विनोद जैन का कहना है कि हमारे तीनों बच्चे पढ़ाई के मामले में बहुत जागरूक हैं। दोनो बेटियां जयंती और नियति भी हमेशा ही पढ़ाई के मामले आगे रही हैं। बेटे का परीक्षा में ऑल इंडिया रैंक 27 है। हमें अपने बेटे पर पूरा भरोसा था कि, वो एग्जाम क्लियर कर लेगा और अच्छी रैंक के साथ पास होगा। हमारा पूरा परिवार उसकी सफलता से बहुत खुश है।