दैनिक भास्कर हिंदी: हेरिटेज कमेटी से रावण दहन को मिली सशर्त मंजूरी,जीपीओ परिसर से अस्थायी निर्माण तोड़ने के निर्देश

August 16th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। हेरिटेज संवर्धन कमेटी की ओर से केपी ग्राउंड परिसर में रावण दहन को सशर्त मंजूरी दे दी गई है। साथ ही समिति ने कहा है कि जनरल पोस्ट ऑफिस (जीपीओ) परिसर में संबंधित विभाग ने जो भी अस्थायी तौर पर निर्माण कार्य किया है, उसे तत्काल तोड़ दें। वह सरकार की सूची के हिसाब से ग्रेड-1 का स्थल है। इससे सटकर संबंधित प्रशासन ने बिना हेरिटेज संवर्धन कमेटी की अनुमति के निर्माण कार्य किया। इसके खुलासे के बाद कमेटी ने 30 जनवरी और 22 मई को पोस्ट आॅफिस के अधीक्षक को पत्र लिखकर जानकारी देने के निर्देश दिए थे। यह निर्देश मनपा की हेरिटेज संवर्धन कमेटी ने मनपा मुख्यालय में आयोजित बैठक में दिए।

सुरक्षा की जिम्मेदारी आयोजकों की
सनातन धर्म युवक सभा की ओर से रावण दहन के लिए 9 अक्टूबर से 20 अक्टूबर तक जगह उपलब्ध करवाने के लिए समिति के पास प्रस्ताव आया। कस्तूरचंद पार्क के सौंदर्यीकरण का काम तभी प्रगति पर रहेगा, जब वहां आने वाले नागरिक की सुरक्षा की जिम्मेदारी आयोजक लेंगे। इसके लिए आवश्यक उपाय-योजना की जाए और विशेष जगह व भीड़ को नियंत्रित कर आयोजन किया जाए, इन शर्तों के साथ रावण दहन को समिति ने मंजूरी दे दी। 

केपी में वॉकिंग, साइकिल ट्रैक आदि काम प्रस्तावित
कस्तूरचंद पार्क में वॉकिंग, साइकिल ट्रैक, पौधारोपण आदि काम प्रस्तावित हैं, जिसे समिति की मंजूरी के बाद 16 अगस्त से चालू करना है। पार्क में शहर के सबसे ऊंचे तिरंगे का काम भी चालू है। सिविल लाइंस की पुरानी उच्च न्यायालय की इमारत राष्ट्रीय स्मारक घोषित की जा चुकी है। इसके लिए आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया, नागपुर सर्किल को विभागीय आयुक्त द्वारा दिया गया पत्र समिति के सामने रखा गया।

रिजर्व बैंक के मुख्य द्वार निर्माण पर आपत्ति
रिजर्व बैंक इमारत परिसर के मुख्य द्वार पर निर्माण कार्य पर समिति ने 22 मई को पत्र भेजकर आपत्ति दर्ज की। इस पर 2012 के बाद से किसी भी प्रकार का निर्माण कार्य नहीं करने की जानकारी रिजर्व बैंक भवन परिसर के सहायक प्रबंधन ने समिति को दी। विधान भवन के सामने वाले गेट पर किए गए निर्माण कार्य की जानकारी समिति के अधिकारियों ने दी है और अनुमति के लिए दस्तावेज प्रस्तुत करने के निर्देश समिति ने दिए हैं।

यह थे उपस्थित
मनपा के अतिरिक्त उपायुक्त राजेश मोहिते, समिति सदस्य अशोक मोखा, प्राचार्य उज्ज्वला चक्रदेव, रातुम विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग की डॉ. शुभा जोहरी, नगर रचना सहायक संचालक सुप्रिया थूल, प्रमोद गावंडे, डॉ. विराग सोनटक्के, नगर रचनाकार प्रवीण सोनारे उपस्थित थे।बैठक में बताया गया कि, पत्र पर पोस्ट ऑफिस अधीक्षक ने  विभागीय कार्यालय के काम के लिए जगह की जरूरत होने पर शेड बनाया था, लेकिन उससे भवन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। साथ ही निर्माण कार्य का स्टीमेट, नक्शा आदि प्रस्तुत कर निर्माण कार्य को मंजूरी देने के लिए आवेदन किया। साथ ही जीपीओ भवन व सुरक्षा दीवार की रंगाई के लिए समिति से मंजूरी मांगी। इस पर समिति ने बताया था कि, जब तक शेड नहीं हटाया जाएगा, तब तक कोई अन्य निर्णय नहीं लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...