ऑनलाइन संगोष्ठी : तकनीक का उपयोग सोच-समझकर करने की जरूरत

October 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, वर्धा। महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय में पंडित मदन मोहन मालवीय राष्ट्रीय शिक्षक एवं शिक्षण मिशन के तत्वावधान में शिक्षा विद्यापीठ द्वारा साइबर सुरक्षा जागरुकता पर ऑनलाइन संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए प्रतिकुलपति प्रो. चंद्रकांत रागीट ने कहा कि तकनीक के बढ़ते इस्तेमाल के कारण साइबर सुरक्षा सभी के लिए एक चुनौती है। ऐसे में हमें तकनीक का प्रयोग सोच-समझकर करने की आवश्यकता है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्ल की प्रेरणा से 25 से 27 अक्टूबर के दौरान राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  जिसकी पहली कड़ी में सोमवार 25 अक्टूबर को ऑनलाइन संगोष्ठी के माध्यम से साइबर सुरक्षा पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया।  कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि के रुप में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के प्रो. गिरीश नाथ झा,  वर्धा के पुलिस अधीक्षक प्रशांत होलकर उपस्थित थे। कार्यक्रम में स्वागत वक्तव्य शिक्षा विभाग के अध्यक्ष प्रो. गोपाल कृष्ण ठाकुर ने दिया। संचालन शिक्षा विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. संदीप पाटील ने किया। तथा आभार शिक्षा विद्यापीठ के अधिष्ठाता प्रो. मनोज कुमार ने माना। कार्यक्रम समन्वयक के रूप में डॉ. प्रमोद जोशी, डॉ. शिल्पी कुमारी, डॉ. गौरी शर्मा, डॉ. सीमा बर्गट और डॉ. हर्षलता पेटकर एवं तकनीकी समन्वयक के रूप में डॉ. गिरीश चंद्र पाण्डेय ने भूमिका निभायी। इस कार्यक्रम के अंतर्गत 26 अक्टूबर को साइबर सुरक्षा सशक्तिकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया है।