आयकर छापे पर भड़का परिवार: शरद पवार ने कहा - हमें सरकारी मेहमानों की चिंता नहीं है

October 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उपमुख्यमंत्री अजित पवार से संबंधित लोगों और करीबियों पर आयकर विभाग की छापेमारी पर पवार परिवार भड़क गया है। शुक्रवार को सोलापुर में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार कहा कि केंद्र सरकार ने अजित से संबंधित लोगों के पास सरकारी मेहमान (आयकर के अफसर) भेजा है। हमें सरकारी मेहमानों की चिंता नहीं है। केंद्र सरकार की सत्ता का दुरुपयोग करने वाली भाजपा को जनता सबक सिखाए बिना नहीं रहेगी। पवार ने कहा कि मैंने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की हिंसा की तुलना बिट्रिश शासन के दौरान भारत में हुए जलियांवाला बाग हत्याकांड से की थी। इसके बाद यह छापेमारी हुई है। पवार ने कहा कि मुझे दिल्ली के एक सत्ताधारी मित्र ने बताया कि साहब आपके सबसे संबंध अच्छे हैं लेकिन आपका लखीमपुर हिंसा की तुलना जलियांवाला बाग से करना पंसद नहीं आया। इसलिए आपके यहां ‘मेहमान’ भेजे गए हैं। 

पवार ने कहा कि लखीमपुर खीरी में भाजपा के नेताओं ने किसानों के शरीर पर गाड़ी चलाकर उनकी हत्या करने का पाप किया है। इसके विरोध में महाविकास आघाड़ी के तीनों दलों ने 11 अक्टूबर को महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया है। पवार ने कहा कि साल 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुझे नोटिस भेजा था। ईडी ने मुझे नोटिस भेजा इसके बाद पूरे महाराष्ट्र ने विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबक सिखाया। 

राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज के महाराष्ट्र में महिलाओं पर कभी अन्याय नहीं हुआ था। शिवाजी महाराज ने कभी महिलाओं को निशाना नहीं बनाया था लेकिन मुगलों ने महिलाओं को निशाना बनाया था। सुप्रिया ने कहा कि छत्रपति का नाम लेकर भाषण करने वाले भाजपा के नेता उनके ही विचारों की अनेदखी कर रहे हैं। पर केंद्र और दिल्ली के तख्त के आगे महाराष्ट्र कभी नहीं झुका है और न ही झुकेगा। 

वहीं उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने तंज कसते हुए कहा कि मेरे से संबंधित लोगों के ठिकानों पर मेहमान अभी रुके हुए हैं। हम उनके काम में बाधा नहीं डालना चाहते हैं। आयकर विभाग की छापेमारी की कार्रवाई पूरी होने के बाद ही अपना बयान जारी करूंगा। मैं कभीं पर भागकर नहीं जाऊंगा। मीडिया के हर सवाल का जवाब दुंगा। इसके पहले पुणे में राकांपा के कार्यकर्ताओं ने अजित के सामने जमकर शक्ति प्रदर्शन किया। इस पर अजित ने कहा कि मेरी कार्यकर्ताओं से अपील है कि कानून को अपना काम करने दीजिए।  

छापेमारी को भाजपा से जोड़ना हास्यास्पद- पाटील 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा कि उपमुख्यमंत्री अजित पवार से संबंधित लोगों के घरों और कार्यालय पर आयकर की छापेमारी को भाजपा से जोड़ना हास्यास्पद है। पाटील ने कहा कि पवार का यह दावा कि उन्होंने लखीमपुर खीरी हिंसा के बारे में टिप्पणी की थी, इसलिए आयकर के छापे पड़े हैं यह तो बड़ा मजाक है। 
 

खबरें और भी हैं...