दैनिक भास्कर हिंदी: शिवसेना ने कहा- राम मंदिर पर अभी लो फैसला, चुनाव बाद टीम मोदी को बहुमत मिलना मुश्किल

February 8th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। आयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर अपने मित्र दल भाजपा की आलोचना करने वाली शिवसेना ने अब राष्ट्रीय स्वंमसेवक संघ (आरएसएस) व विश्व हिंदू परिषद (विहिप) पर निशाना साधा है। पार्टी ने कहा कि राम मंदिर के मसले पर मोदी सरकार टाल मटोल कर ही रही है, अब संघ व विहिप ने भी मुंह छुपाना शुरु कर दिया है। पार्टी के मुखपत्र में छपे संपादकीय के माध्यम से शिवसेना ने कहा है कि ‘संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अब कह रहे है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद सरकार किसी की भी रहे राम मंदिर निर्माण शुरु किया जाएगा। पर 2019 के चुनाव में राम मंदिर का मसला मोदी परिवार के लिए मुसीबत न बन जाए।’ पार्टी का कहना है कि ‘अब तक संघ व विहिप मांग कर रहे थे कि 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले अध्यादेश लाकर राम मंदिर निर्माण शुरु किया जाए। शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे के बाद राम मंदिर निर्माण की मांग तेज हुई थी। लेकिन अब इसे चुनाव तक टाला जा रहा है।

राममंदिर के विरोधी हैं नीतीश-पासवान 

शिवसेना ने कहा कि एनडीए के घटक दल नीतीश कुमार और राम विलास पासवान ‘बाबरवादी’ हैं। इस लिए राम मंदिर पर इनकी भूमिका समझना होगा। पासवान ने तो हमेशा मंदिर विरोधी भूमिका अपनाई है। 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद मोदी को बहुमत मिलना मुश्किल दिखाई दे रहा है। अभी पार्टी के पास बहुमत है, इस लिए हमारी मांग है कि राम मंदिर पर अभी फैसला लिया जाना चाहिए। पार्टी का कहना है कि फिलहाल भगवान राम का वनवास खत्म होता नहीं दिखाई दे रहा है।  
 

खबरें और भी हैं...