दैनिक भास्कर हिंदी: शिवसेना के बीजेपी का साथ छोड़ने की अटकलों पर लगा विराम, उद्धव बोले- सरकार से अलग नहीं होगी पार्टी

September 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भाजपा के फैसलों और नीतियों की लगातार तीखी आलोचना के बावजूद शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे सत्ता छोड़ने कि जल्दबाजी में नहीं है। शिवसेना के सत्ता से हटने के सवाल पर उद्धव ने आघाड़ी सरकार के वक्त कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के बीच के रिश्तों की याद दिलाई। उद्धव ने कहा कि शिवसेना सत्ता में रहकर जनता के हितों के लिए सरकार से फैसले करवा रही है। साथ ही जिन मुद्दों पर पार्टी सहमत नहीं है उनका विरोध कर रही है।

उद्धव ने कहा कि हम जनता के लिए विपक्ष से ज्यादा प्रभावी काम कर रहे हैं। इसलिए मीडिया केवल इस बात के इंतजार में न बैठी रहे कि शिवसेना सत्ता से बाहर कब निकलेगी। बुधवार को बांद्रा के रगंशारदा सभागार में शिवसेना के पदाधिकारियों, विधायकों और सांसदों की आगामी चुनावों को लेकर समीक्षा बैठक हुई। बाद में पत्रकारों से बातचीत में उद्धव ने कहा कि शिवसेना के सत्ता से बाहर जाने के मुद्दे पर जनता के बीच कोई सवाल नहीं है। क्योंकि जनता समझदार है। उद्धव ने कहा कि आघाड़ी सरकार के समय एक दौर ऐसा आया था जब राष्ट्रवादी कांग्रेस ने तत्कालीन मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को कहा था कि  उनके हाथ में लकवा मार गया है। इसके बावजूद कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस मिलकर काम कर रहे थे। उस समय राष्ट्रवादी कांग्रेस से कोई सवाल नहीं पूछ रहा था।

उद्धव ने कहा कि हम सत्ता में हैं लेकिन हमें सहयोगी दल भाजपा से कोई अपेक्षा नहीं है। महामंडलों अध्यक्षों  कि जो घोषणा हुई है, उसकी सूची शिवसेना ने भाजपा को दो साल पहले दी थी। उद्धव ने कहा कि नोटबंदी का फैसला उल्टा पड़ गया है। लेकिन अब सवाल उठता है कि इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार कह रहे हैं कि दोबारा नोटबंदी का फैसला किया जा सकता है। यदि ऐसा हुआ तो जनता भाजपा को सबक सिखाए बिना नहीं रहेगी।

हिंदू आतंकवाद शब्द पर एतराज

एक सवाल के जवाब में उद्धव ने कहा कि हिंदुत्ववादी विचारधारा वालों की सरकार में हिंदू आंतकवाद और शहरी नक्सलवाद की बात सामने आ रही है। सवाल यह उठता है कि हिंदुत्ववादी सरकार के समय हिंदुओं को क्यों ऐसा करना पड़ रहा है। इन मामलों में यदि कोई तथ्य है तो पुलिस को जल्द से जल्द आरोपपत्र दाखिल करना चाहिए। उद्धव ने कहा कि मुझे हिंदु आतंकवाद शब्द पर एतराज है।

हार्दिक को समर्थन, अनशन खत्म करने की अपील 

उद्धव ने गुजरात में पटेल समाज को आरक्षण देने की मांग को लेकर अनशन कर रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का समर्थन किया है। उद्धव ने हार्दिक से फोन पर बातचीत की। उद्धव ने कहा कि मैंने हार्दिक से अनशन खत्म करने को कहा है। क्योंकि सत्ताधारी दल में संवेदना नहीं बची है। उद्धव ने कहा कि मैंने हार्दिक को समझाया है कि आपको गुजरात के लिए लंबी लड़ाई लड़नी है। उद्धव ने कहा कि कई बार सरकार आतंकियों से बातचीत करने के लिए तैयार हो जाती है तो उसे हार्दिक से चर्चा करने में क्या आपत्ति है।