दैनिक भास्कर हिंदी: झटका : तीन महीने का बिजली बिल आया एक साथ

June 21st, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  लॉकडाउन के कारण महावितरण ने तीन महीने से सभी को औसत बिजली बिल के मैसेज भेजे। अब लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद महावितरण ने रीडिंग लेकर प्रिंटेड बिल भेजने शुरू कर दिए हैं। ऐसे में तीन महीने के बिल एक साथ भेजे जा रहे हैं। इससे लोगों में हड़कंप मच गया है। भारी-भरकम बिल आने से लोगों में शंकाएं उपस्थित हो रही हैं। इस पर महावितरण ने अपना स्पष्टीकरण जारी कर लोगों का संदेह दूर करने का प्रयास किया है। 

खपत बढ़ी है

महावितरण का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान पिछले तीन महीने की रीडिंग का औसत बिल भेजा गया था। ठंड के दिनों में बिजली बिल कम होने से यह औसत में कम दिखा, लेकिन अब रीडिंग लेने की अनुमति मिलने के बाद वास्तविक बिल भेजे जा रहे हैं। अप्रैल, मई में गर्मी के कारण बिजली खपत बढ़ी है। ऐसे में रीडिंग भी बढ़ी है। इससे बिजली बिल की रकम ज्यादा लग सकती है, लेकिन महावितरण द्वारा दिए गए बिल अचूक और अधिक पारदर्शी हैं। महावितरण ने दावा किया है कि अगर किसी ने लॉकडाउन के दौरान बिल भुगतान किया है, तो उसकी रकम जून 2020 के बिल में कम की गई है। 

        

खबरें और भी हैं...