comScore

दो भाईयों को बचाने पानी में कूदी बहन,तीनों की मौत - कान्हींवाड़ा गांव की घटना

दो भाईयों को बचाने पानी में कूदी बहन,तीनों की मौत - कान्हींवाड़ा गांव की घटना

डिजिटल डेस्क सिवनी/भोमा । कान्हींवाड़ा थाना सीमा के भट्टेखारी गांव में सोमवार की दोपहर को गड्ढे में भरे पानी में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई। मृतक दो सगे भाईयों सहित तीन बच्चे हैं। घटना के बाद पुलिस ने तीनों शवों को पीएम के लिए भेज दिया।
पैर धोने गया था मृतक
मिली जानकारी के अनुसार डिल्ली मर्सकोले का पांच साल का  बेटा अमित अपने चाचा हेमराज के लड़के सुधीर(5) व उसकी बहन संजना(14) के साथ मवेशी लेकर खेत जा रहे थे। इस बीच अमित और सुधीर पैरों में लगे कीचड़ को साफ करने बड़े गढ्ढे में भरे पानी में गए थे। दोनों का पैर फिसल गया वे पानी में डूबने लगे। उनको बचाने के लिए  संजना ने पानी में छलांग लगा दी लेकिन तीनों की मौत हो गई। काफी देर तक उनके न आने पर परिजनो ने तलाश की तो तीनो के शव पानी में उतराते हुए मिले। जिस जगह यह हादसा हुआ वहां पर  सड़क निर्माण के लिए मुरम निकाली गई थी जहां बारिश का पानी भर गया था।
गांव में पसरा मातम
घटना के बाद पूरे गांव में मातम पसर गया। तीन बच्चों की मोत की खबर पर हर कोई स्तब्ध है। इधर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। हेमराज मर्सकोले की दो ही संतान सुधीर और संजना थी। जबकि डिल्ली के दो पुत्र थे जिसमें से अमित ने इस दुनिया से विदा ले लिया। पीडि़त परिवार कृषि कार्य करता है।
ठेकेदार ने खोदा था गड्ढा
जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत जावना से भट्टेखारी गांव तक रोड का निर्माण किया गया था। यहां पर ठेकेदार ने गांव के ही एक किसान के खेत से मिट्टी मुरम निकालने के लिए खुदाई की थी। बारिश का पानी उसमें भर गया जहां तीनों बच्चों की मौत हो गई। घटना के बाद लोगों ने ठेकेदार पर एफआईआर दर्ज कर उसे गिरफ्तार करने की मांग की है।
 

कमेंट करें
SeDGk