दैनिक भास्कर हिंदी: बारिश का असर : छोटे दुकानदार और संतरा उत्पादक हुए प्रभावित

October 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोंढाली और ग्रामीण इलाकों में शनिवार की सुबह से ही हल्की बारिश का दौर जारी था, लेकिन दोपहर करीब 12 बजे के दौरान अचानक हुई तेज बारिश ने दिवाली पर्व पर दुकान सजाए छोटे दुकानदारों की फजीहत कर दी। सामना भीगने से दुकानदारों को काफी नुकसान हुआ, वहीं बारिश के चलते ग्राहक नहीं पहुंचने से आमदनी भी प्रभावित हुई। उसी प्रकार संतरा उत्पादक किसान के अंबिया बहार की फसल विगत तीन दिन से डेरा जमाए बादलों के कारण व शनिवार को हुई तेज बारिश के चलते संतरों के बाजारभाव में अचानक गिरावट हुई। फलस्वरूप  संतरा उत्पादक  किसान तथा व्यापारियों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। यह जानकारी संतरा व्यापारी श्याम बागड़े, जितेंद्र पोकले, धनराज ठवले, तौसिफ पठाण व संतरा उत्पादक किसान सुरेंद्रसिंह व्यास ने दी है।

कपास, सोयाबीन व संतरे को क्षति

कलमेश्वर की बात करें तो छोटे दुकानदारों को खासी परेशानी हुई। कलमेश्वर में दोपहर 12 बजे के दौरान अचानक बारिश की दस्तक हुई, जो तकरीबन एक घंटा बनी रही। इससे बाजारपेठ की बढ़ती रौनक पर मानो कर्फ्यू लग गया। छोटी दीपावली पर महिलाएं खरीददारी के लिए अपने घरों से नहीं निकल पाई। बाजार में लघु उद्योग वाले छोटे व्यापारियों की रंगोली, दीया, सजावट का सामान, फूल, फल विक्रेताओं का सामान आदि भीगने से काफी नुकसान हुआ। कलमेश्वर तहसील के किसानों को बारिश ने परेशानियों में डाल दिया। खेतों में खड़ी कपास की फसल व  खेत में काटकर रखी गई सोयाबीन की फसल भीग जाने से काफी नुकसान का सामना करना पड़ा। हालांकि शनिवार को हुई बारिश से कितना नुकसान हुआ। इस बारे में प्रशासन से कोई सटिक जानकारी नहीं मिल पाई। ऐन दीपावली पर्व पर हुई बारिश से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई। 

बाजारों में दिखा बारिश का असर, देर रात तक जमकर हुई खरीदी

बाजार में हर दुकानों में खरीदारों की भीड़ देर रात तक बनी रही, लेकिन शनिवार की दोपहर को अचानक हुई बारिश ने दीपावली बाजार में खलल डाल दी। अचानक हुई बारिश से कुछ देर के लिए बाजारों में विरानी छा गई, बारिश थमने के बाद देर शाम दोबारा बाजारों में रौनक लौटने लगी थी। धनतेरस के दिन बाजार में जमकर खरीदारी हुई। इस साल दुकानदारों के साथ-साथ ग्राहकों में भी उत्साह देखते ही बन रहा था। रविवार को दीपावली पर्व पर शहर के बाजार ग्राहकों की भीड़ से भरे हुए थे, लेकिन शनिवार की दोपहर अचानक बिजली की गड़गड़ाहट के साथ तेज बारिश हुई। इससे ग्राहक इधर-उधरे भागते नजर आए तो कुछ ग्राहकों ने दुकानों में ही सहारा लिया। एक-डेढ़ घंटे जारी बारिश से फुटपाथ दुकानदारों का धंधा चौपट हो गया। हालांकि देर शाम बारिश थमने के बाद दोबारा बाजारों में लौटी रौनक देर रात तक बनी रही। इस वर्ष बाजारों में मंदी का असर नहीं पड़ा। पिछले साल के मुकाबले इस साल अच्छी ग्राहकी होने से दुकानदारों के भी चेहरे खिल उठे है।