comScore

सोशल मीडिया : विदेशी ब्रांड के नाम पर बेचते नकली शराब, दोस्ती के बाद की शादी पर घर ले जाने से किया इंकार  

सोशल मीडिया : विदेशी ब्रांड के नाम पर बेचते नकली शराब, दोस्ती के बाद की शादी पर घर ले जाने से किया इंकार  

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर विदेशी ब्रांड के नाम पर कॉलेज में पढ़ने वाले युवाओं को नकली शराब सप्लाई करने वाले एक गिरोह का राज्य उत्पाद शुल्क विभाग ने भंडाफोड़ किया है। छानबीन में खुलासा हुआ है कि आरोपी विदेशी शराब की बोतलों में नकली देसी शराब भरकर उन्हें बेंचा करते थे। आरोपियों के पास से करीब 4 लाख रुपए की नकली शराब बरामद की गई है। आरोपी लोगों को सोशल मीडिया के जरिए घर पर शराब की बोतल पहुंचाने से जुड़ा संदेश प्रसारित करते थे। राज्य उत्पाद शुल्क विभाग के उड़न दस्ते ने गुप्त सूचना के आधार पर महानगर के वडाला इलाके में छापा मारकर नकली  शराब से भरी एक गाड़ी पकड़ी। इसके बाद अधिकारी उस कारखाने तक पहुंचे जहां से नकली शराब लाई जा रही थी। मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के पास से शराब सप्लाई के लिए इस्तेमाल की जा रही गाड़ी के साथ 3 लाख 91 हजार 675 कीमत की नकली शराब की बोतलें जब्त की। इसके अलावा आरोपियों की निशानदेही पर वाशी इलाके से बड़े पैमाने पर विदेशी ब्रांड की बोतलें, लेबल, पैकिंग का सामान और नकली शराब जब्त की है। हैरानी की बात ये है कि आरोपियों ने खुलासा किया है कि वे सोशल मीडिया के जरिए कम कीमत पर विदेशी शराब की सप्लाई घर तक पहुंचाने की बात प्रचारित करते थे। आरोपी खास तौर पर कॉलेजों में पढ़ने वाले युवाओं तक अपना संदेश पहुंचाते थे। 
 

निचली जाति का हवाला देकर पत्नि को घर न ले जाने वाले पति के खिलाफ एफआईआर

दूसरा मामला भी सोशल मीडिया से जुड़ा है, जहां पहले तो दोस्ती की गई, फिर निचली जाति की होने का हवाला देते हुए घर ले जाने से इनकार पती ने इंकार कर दिया। इसके बाद पति के खिलाफ पत्नी ने बलात्कार का मामला दर्ज कराया है। महिला की शिकायत के आधार पर पालघर जिले की अर्नाला पुलिस ने आरोपी के खिलाफ बलात्कार के साथ साथ दलित उत्पीड़न कानून के तहत भी एफआईआर दर्ज की है। मामले की छानबीन की जा रही है। आरोपी का नाम स्वप्निल माली है। नालासोपारा इलाके में रहने वाली 22 वर्षीय महिला के मुताबिक माली से उसकी दोस्ती फेसबुक के जरिए हुई थी। दोस्ती जल्द ही प्यार में बदल गई और उसने भिवंडी में रहने वाले माली से बांद्रा कोर्ट में शादी कर ली। शादी के बाद भी माली अपनी पत्नी को घर नहीं ले गया और इस साल जुलाई से अगस्त के बीच कई बार शारीरिक संबंध बनाएं। महिला जब माली पर अपने घर ले जाने के लिए दबाव बनाने लगी तो उसने यह कहते हुए संबंध तोड़ लिए कि उसके समुदाय के लोग निचली जाति के लोगों से शादी नहीं करते और उसके परिवार वाले भी इसे स्वीकार नहीं करेंगे। पालघर पुलिस के प्रवक्ता हेमंत काटकर ने बताया कि लड़की की शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 376 और 420 के तहत बलात्कार और ठगी के साथ दलित उत्पीड़न विरोधी कानून की संबंधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। मामले की छानबीन जारी है फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।      

कमेंट करें
GFvJ3