दैनिक भास्कर हिंदी: रेलवे से कर सकेंगे दक्षिण दर्शन यात्रा, भारत दर्शन यात्रा और पांच ज्योतिर्लिंग की यात्रा

June 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  रेलवे भारत दर्शन के लिए तीन विशेष ट्रेनें चलाने वाली है। इन ट्रेनों से दक्षिण दर्शन, भारत दर्शन और पांच ज्योतिर्लिंग यात्रा का लाभ लोग ले सकेंगे। इसके लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग और टूरिज्म कार्पोरेशन (आईआरसीटीसी) ने तीन टूरिज्म पैकेज तैयार किए हैं। इन ट्रेनों के नाम पांच ज्योतिर्लिंग यात्रा, दक्षिण दर्शन यात्रा और भारत दर्शन यात्रा है। इस यात्रा के पूरे पैकेज में सभी जगहों पर घुमाने की जिम्मेदारी ली गई है। यह तीनों गाड़ियां अलग-अलग समय पर निकलेंगी। इससे पहले डॉ. भीमराव आंबेडकर को समर्पित समानता एक्सप्रेस चलाई गई थी। जिसमें यात्रियों को बाबा साहब से संबंधित सभी तीर्थ स्थानों पर यात्रा करवाई गई थी। इस ट्रेन को यात्रियों का अच्छा प्रतिसाद मिला था। जिसके बाद तीन नए पैकेज जारी किए हैं।

यह रहेगी सुविधा

इन पैकेज में यात्रियों को केवल बुकिंग के समय रुपए जमा करना है फिर पूरी सुविधा आईआरसीटीसी द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी। इसमें यात्रियों की रेल यात्रा गंतव्य तक पहुंचने के बाद, तीर्थ स्थान पर जाने के लिए बस यात्रा, रुकने की सुविधा, भोजन, नाश्ता, टूरिस्ट गाइड आदि की सुविध मिलेगी। यात्रा के दौरान मेडिकल इमरजेंसी के लिए रेलवे द्वारा एक डॉक्टर उपलब्ध कराया जाएगा। ट्रेन में स्लीपर और थर्ड एसी के कोच रहेंगे।

इन स्थानों पर यात्रा कर सकेंगे

पहला पैकेेज भारत दर्शन यात्रा का है। यह ट्रेन 20 जुलाई को अमरावती से  निकलेगी। वहां से चलकर, वर्धा, नागपुर, पांढ़र्णा, अामला, इटारसी से यात्रियों को लेगी। यह ट्रेन आगरा, मथुरा, हरिद्वार, अमृतसर और वैष्णोदेवी के दर्शन करवाएगी। यह ट्रेन 27 जुलाई को लौटेगी। दूसरा पैकेज दक्षिण दर्शन यात्रा का है। यह ट्रेन 29 जुलाई को नागपुर से चलेगी। इसके बाेर्डिंग और डी-बोर्डिंग पाइंट नागपुर, वर्धा, बडनेरा, अकोला, वाशिम, पुर्णा और नांदेड़ हैं। यह ट्रेन रेनीगुंटा, रामेश्वरम, मदुरई, कन्याकुमारी और त्रिवेंद्रम की यात्रा करवाएगी। यह ट्रेन 6 अगस्त को वापसी करेगी। तीसरी ट्रेन पांच ज्योतिर्लिंग यात्रा है, जो 8 अगस्त से चलेगी। इसके बोर्डिंग और डी-बोर्डिंग स्टेशन नागपुर, वर्धा, बडनेरा, अकोला, शेगांव, मलकापुर, भुसावल और जलगांव हैं। यह पांच ज्योतिर्लिंग, त्रयंबकेश्वर, द्वारका, सोमनाथ, ओंकारेश्वर और महाकालेश्वर के दर्शन कराएगी।
 

खबरें और भी हैं...