दैनिक भास्कर हिंदी: उपराजधानी में श्री काली पूजा महोत्सव शुरु, गीता मंदिर में अन्नकूट दर्शन

October 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। एक तरफ दीपावली की धूम है, तो साथ ही सत्भावना काली पूजा कमेटी की ओर से एसबीआई कॉलोनी, गोपालनगर में सर्बोजनिन काली पूजा महोत्सव का आयोजन 27 से 30 अक्टूबर तक किया जा रहा है। काली पूजा आयोजन का यह 25वां वर्ष है। 27 अक्टूबर को शाम 7 बजे काली पूजा और पुष्पांजलि होगी। बाद में भोग वितरण होगा। 28 अक्टूबर को गेम्स और ड्रॉइंग कॉम्पिटिशन, दोपहर में भोग और शाम को डांस कार्यक्रम होगा जिसकी आयोजक डॉ. उत्सा बनर्ज हैं। 29 अक्टूबर को शाम 7 बजे कमेटी सदस्यों के सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। 30 अक्टूबर को अनाथाश्रम में ब्लैंकेट वितरण किया जाएगा। कमेटी द्वारा 5 गरीब बच्चों की निःशुल्क शिक्षा की व्यवस्था भी की जाएगी। शाम को  कार्यक्रम का समापन होगा। सभी कार्यक्रमों का लाभ उठाने की अपील कमेटी के अध्यक्ष एस. जिचकार एवं सचिव एस.एस. सेन ने की है। 

सती धाम मंदिर से ध्वजायात्रा 

उधर सती दादीजी की ध्वजायात्रा अमावस्या निमित्त 28 अक्टूबर को सुबह 7 बजे हनुमान मंदिर, न्यू नंदनवन से सती धाम मंदिर, न्यू नंदनवन के लिए निकाली गई। इस अवसर पर सती दादी के संगीतमय भजनों का गायन मोहिनी शर्मा एवं दादी भक्तों द्वारा किया गया।  

गीता मंदिर में अन्नकूट दर्शन

वहीं सुभाष मार्ग स्थित श्री गीता मंदिर में गोवर्धन पूजन कार्यक्रम 28 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। मंदिर संचालक व मैनेजिंग ट्रस्टी स्वामी निर्मलानंद महाराज की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में गाय के गोबर से भगवान गोवर्धन की झांकी सुबह 9 बजे साकार की जा रही है। झांकी का पूजन कर गोवर्धन भगवान रूपी पर्वत पर गौमाता को विचरण कराया जाएगा।  स्वामी के साथ भक्तगण "गिरिराज धरण हम हैं तुम्हरी शरण' और "श्रीकृष्ण गोविंद हरे मुरारी हे नाथ नारायण वासुदेव' की धुन के साथ भगवान गोवर्धन की परिक्रमा करेंगे। गोवर्धन पूजन पर अन्नकूट महाप्रसाद कार्यक्रम में श्री गीता माता को 56 प्रकार के व्यंजनों का भोग 28 अक्टूबर को सुबह 9 बजे लगाया जाएगा।  दिन भर अन्नकूट, 56 भोग के दर्शन कर सकेंगे। शाम 6.30 बजे सामूहिक आरती के बाद 56 भोग प्रसाद वितरण किया जाएगा। अन्नकूट हेतु प्रसाद सोमवार सुबह 8 बजे तक प्रसाद लाकर दे सकते हैं। 

हरिहर मंदिर में हरि कीर्तन की गूंज

हरिहर मंदिर में एकादशी के उपलक्ष्य में भजनों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर महेश नंदरधने, गणेश नघाट, मारोतराव सेलोकर, कृष्णराव फटिंग, बाबूराव पखाले, गोपालराव चंदनबावणे, चैतराम ठाकरे, तुकाराम माताघरे, विनायक बावणे, रामकृष्ण चंदनबावने, अक्षय तोटेवार, प्रह्लाद जाधव आदि ने भजनों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में मंडल के अध्यक्ष अर्जुनराव वैरागडे, उपाध्यक्ष पुंडलिकराव बोलधन, राजू उमाटे, सचिव गुलाब बालकोटे, रामेश्वर हिरूलकर, चंद्रशेखर वाघ, अंबादास गजापुरे, विजय क्षीरसागर, गोपाल कलमकर, वासुदेव बरडे, लक्ष्मणराव सातपुते, रमेश नाकाडे, भूषण क्षीरसागर, चंद्रकांत घवघवे, प्रकाश डांगे, उदय आकरे, कमलाकर घाटोले, स्वप्निल वैरागडे, रामदास गजापुरे, सुनील धावडे, व्यवस्थापक उमेश नंदनकर आदि ने प्रयास किया।


श्री दिगंबर जैन महासमिति पहुंचे आचार्यश्री सुवीरसागर महाराज

श्री दिगंबर जैन महासमिति के महाराष्ट्र अंचल के केंद्रीय कार्यालय, लाडपुरा इतवारी में धनतेरस पर तपस्वी सम्राट आचार्यश्री सन्मतिसागर के शिष्य आचार्यश्री सुवीरसागर महाराज का आगमन हुआ। इस अवसर पर महाराष्ट्र अंचल के अध्यक्ष सुनील पेंढारी ने आचार्यश्री की अगवानी कर उन्हें श्री दिगंबर जैन महासमिति महाराष्ट्र अंचल के कार्य की जानकारी दी। आचार्यश्री सुवीरसागर जी ने श्री दिगंबर जैन महासमिति को आशीर्वाद देते हुए सामाजिक और धार्मिक कार्य के लिए आगे भी कार्य करने की प्रेरित किया। इस अवसर पर आनंदराव सवाने, पंकज खेडकर, परिमल खेडकर, मुकेश जैन तथा अन्य सदस्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...