दैनिक भास्कर हिंदी: 2 घण्टे में क्लेम सेटलमेंट का दावा करती है स्टार हेल्थ इंश्योरेंस, हकीकत में महीनों की पेंडेंसी

May 26th, 2021

न कैशलेस इलाज मिला और न ही उपभोक्ता को बिल के बाद पेमेंट, कंपनी की साख पर सवाल
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
देश में हेल्थ इंश्योरेंस के क्षेत्र में जितनी भी कंपनियाँ काम कर रही हैं उनमें स्टार हेल्थ इंश्योरेंस अपने को अग्रणी और सबसे बेहतर बताती है। बड़ी शान के साथ यह दावा किया जाता है कि 60 मिनट से 2 घण्टे के अंदर ही वह अमूमन सभी  हेल्थ क्लेम का सेटलमेंट कर देती है। लेकिन कंपनी के ये दावे पीडि़तों की कराह के आगे एकदम झूठे व खोखले साबित हो रहे हैं। राष्ट्रीय स्तर पर यदि न जाएँ और जबलपुर के आसपास के कुछ जिलों के कंपनी क्लेम सेटलमेंट को देखा जाए तो ये पेंडिंग सैकड़ों में हैं, इनमें से दो दर्जन से अधिक लोगों ने बीते कुछ दिनों के अंदर शिकायत की है, पर समाधान नहीं मिल सका है।  पीडि़त उपभोक्ताओं का आरोप है कि हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी बेचते वक्त कंपनी के एजेंटों ने बड़े वादे और दावे किए लेकिन जब वे महामारी के समय स्वास्थ्य की जटिल समस्याओं में फँसे तो अस्पतालों में भर्ती होते ही कंपनी ने अपने हाथ खड़े कर दिए। किसी तरह का क्लेम सेटलमेंट तो दूर, यह बाद में भुगतान में तक आनकानी कर रही है। स्थानीय स्तर से लेकर मुख्यालय तक समस्या बताई गई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। क्लेम सेटलमेंट में हो रही देरी और उपभोक्ता के द्वारा लगाए जा रहे आरोप को लेकर कंपनी के टोल-फ्री नंबर 18001024477, 1800425225  पर भास्कर ने कई बार संपर्क किया लेकिन बात नहीं हो सकी। इसके बाद  24 मई को 5 बजकर 5 मिनट पर कुछ प्रश्नों के साथ  मेल भी किया गया लेकिन इसका उत्तर 25 मई की शाम तक प्राप्त नहीं हो सका। 
इन परिवारों के इलाज के बाद लाखों अटके  
कंपनी के पास मोतीलाल रूपचंदानी कटनी, नितिन दुबे कमला नेहरू नगर गढ़ा, चन्द्रकांत नामदेव त्रिमूर्ति नगर जबलपुर, आनंद कुमार पानकर चौरई छिंदवाड़ा, संचिता मतानी उखरी रोड़ जबलपुर, अमित सिन्हा मानेगाँव चंपानगर, अनीता शर्मा एमपीईबी कॉलोनी गाडऱवारा नरसिंहपुर, केएन जार रामनगर कटनी, रीतेश पसानी रसल चौक, नीतेश अग्रवाल स्नेह नगर, सविता रजक धनवंतरी नगर शहडोल, सुचीता तिवारी काँचघर जबलपुर आदि एक दर्जन से अधिक मामले आसपास के एरिया से हाल ही के समय पेंडिंग हैं, जिसमें लाखों का भुगतान बाकी है। इसके अलावा सतना, सीधी, सिंगरौली, छतरपुर के दर्जनों क्लेम पेंडिंग हैं। ये लोग स्थानीय स्तर पर चक्कर लगा रहे हैं और कंपनी मुख्यालय में भी लगातार संपर्क कर रहे हैं।
ये कैसी परेशानी मुक्त सेवा 
कंपनी अपनी साख ग्रेडिंग को जब बढ़ा हुआ बताती है तो कहती है कि हैसल फ्री सेवा देती है। इससे आशय यही है कि परेशानी से ग्राहक मुक्त रहता है। अभी जो उपभोक्ता क्लेम सेटलमेंट को लेकर खासे परेशान हैं उससे लग यही रहा है कि यह स्लोगन एकदम बेमानी साबित हो रहा है। परेशानी मुक्त की बजाय अभी बदतर सेवाओं से कहा जाए तो  पूरी तरह उपभोक्ता पस्त हो चुके हैं।  उनकी सुनवाई कहीं भी नहीं हो रही है।  
यहाँ सेटलमेंट में हालत और बदतर
स्टेट और रीजन लेवल पर मामले अटके हैं तो कंपनी की प्रोग्रेस शीट देखने में पता चलता है कि राष्ट्रीय स्तर पर हेल्थ के अप्रैल से लेकर दिसंबर 2020 तक ही  एक लाख 20 हजार मामले अटके हुए हैं, इनमें सेटलमेंट नहीं हो सका है। बीते 3 माह में इनकी संख्या 1 लाख 4 हजार 742 है। 
उपभोक्ता यहाँ कर सकते हैं शिकायत
हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम और कैशलेस उपचार व अन्य तरह की समस्याओं के निराकरण के लिए राजधानी भोपाल में बीमा लोकपाल के 07552769200, 07552769201 नंबरों पर शिकायत की जा सकती है। इसके साथ ही इंश्योरेंस रेगुलेटरी अथॉरिटी हैदराबाद गाछी वावली में पत्र व्यवहार किया जा सकता है, साथ ही 155255 टोल-फ्री नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।