बीमा कंपनी लगवा रहीं चक्कर, परेशान हो रहे उपभोक्ता: कोरोना से ग्रसित बीमित को स्टार हेल्थ ने कर दिया नो क्लेम..!

September 28th, 2021


डिजिटल डेस्क जबलपुर। उम्मीद के साथ स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी आम आदमी लेता है। उसे आशा होती है कि जरूरत के वक्त परिवार साथ नहीं देगा पर बीमा पॉलिसी का एक बड़ा सहारा रहेगा लेकिन मध्यवर्गीय परिवार के सदस्यों की उम्मीद उस वक्त टूट जाती है, जब बीमा कंपनी कैशलेस करने से इनकार कर देती है और जब बिल सबमिट किया जाता है तो अनेक क्वेरी निकालने के बाद बीमा कंपनी उनके क्लेम को रिजेक्ट कर देती है। ऐसी स्थिति एक मामले की नहीं बल्कि अनेक पॉलिसी धारकों के साथ ऐसा ही व्यवहार किया जाता है जिसके कारण वे निराश हैं। बीमा कंपनी के क्लेम डिपार्टमेंट व सर्वेयर टीम के सदस्य बार-बार वही दस्तावेज माँग रहे जो जमा किए जा चुके हैं और नियम का पालन भी नहीं किया जा रहा है। पॉलिसी धारकों ने आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है और जिम्मेदार पूरी तरह खामोश हैं।
इन नंबरों पर बीमा से संबंधित समस्या बताएँ -
इस तरह की समस्या यदि आपके साथ भी है तो आप दैनिक भास्कर, जबलपुर के मोबाइल नंबर - 9425324184, 9425357204 पर बात करके प्रमाण सहित अपनी बात रख सकते हैं। संकट की इस घड़ी में भास्कर द्वारा आपकी आवाज को खबर के माध्यम से उचित मंच तक पहुँचाने का प्रयास किया जाएगा।
कैशलेस से पहले किया इनकार अब भुगतान नहीं दे रही बीमा कंपनी-
विकास नगर निवासी वरुण बघेल ने अपनी शिकायत में बताया कि वे स्टार हेल्थ से स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी कराते आ रहे हैं। उनका अप्रैल 2021 में अचानक स्वास्थ्य खराब हो गया था। स्वास्थ्य खराब होने के कारण अस्पताल में जाकर उन्होंने परीक्षण कराया तो कोरोना से ग्रसित होना चिकित्सकों ने पाया। स्थिति नाजुक होने के कारण चिकित्सकों की टीम ने निजी अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी। अस्पताल में भर्ती होने के दौरान कैशलेस कार्ड दिया तो बीमा कंपनी ने कैशलेस से इनकार कर दिया। उनके द्वारा 1 लाख 88 हजार से अधिक का भुगतान अस्पताल में करना पड़ा। स्वस्थ होने के बाद बीमा कंपनी में ऑन व ऑफलाइन बिल सबमिट किए गए तो उसमें अनेक क्वेरी निकाली गईं। क्वेरी निकाले जाने के बाद बीमित ने दोबारा बिल सबमिट किए तो जल्द निराकरण का दावा किया गया पर बाद में यह कहते हुए नो क्लेम कर दिया कि आपको घर पर ही रहकर इलाज कराना था। पीडि़त का आरोप है कि कई मामले ऐसे हैं, जिनमेें स्टार हेल्थ के जिम्मेदार ये कहते हुए बीमा क्लेम रिजेक्ट कर देते हैं कि आपने घर पर रहकर इलाज कराया था इसलिए हम क्लेम नहीं दे सकते तो फिर पॉलिसी धारक को इलाज कराने कहाँ जाना था यह भी बीमा कंपनी हमें बता दे। पीडि़तों का आरोप है कि जानबूझकर बीमा कंपनी के जिम्मेदार नो क्लेम करने में जुटे हुए हैं। वहीं बीमा कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उनका कहना था कि परीक्षण कराकर जल्द निराकरण किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...