दैनिक भास्कर हिंदी: राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष हाजी अरफात शेख शिवसेना छोड़ भाजपा में शामिल 

September 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। शिवसेना के उपनेता व महाराष्ट्र राज्य अल्पसंख्यक आयोग के नवनियुक्त अध्यक्ष हाजी अरफात शेख ने नाटकीय अंदाज में भाजपा में प्रवेश किया है। शनिवार देर रात को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष शेलार की मौजूदगी में वर्षा पर हाजी अरफात भाजपा में शामिल हुए। हाजी अरफात को  पार्टी में लेकर भाजपा ने सहयोगी शिवसेना को बड़ा झटका दिया है।

प्रदेश सरकार की तरफ से बीते 31 अगस्त को राज्य के 21 विभिन्न महामंडल, मंडल व आयोग के अध्यक्ष पदों की घोषणा की गई थी। इसमें राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष पद पर हाजी अरफात की नियुक्ति की गई थी। समझा जा रहा था कि हाजी अरफात को शिवसेना के कोटे से अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष पद मिला है। लेकिन उनके पाला बदलने से यह साफ हो गया है कि अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष पद भाजपा ने अपने कोटे दिया है।

हाजी अरफात शिवसेना में पार्टी की परिवहन इकाई के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। लेकिन उनकी शिवसेना नेता व प्रदेश के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते से लगातार मतभेद सामने आ रहे थे। उन्होंने सार्वजनिक रूप से रावते की आलोचना की थी। इसके बाद से शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे उनसे नाराज हो गए थे। हाजी अरफात ने शिवसेना में रहते हुए अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष पद के लिए कोशिश की थी। लेकिन उन्हें पार्टी की तरफ से कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिल रहे थे। समझा जा रहा है कि इससे बाद ही उन्होंने भाजपा का रूख किया।

शिवसेना से अलग होकर राज ठाकरे द्वारा नई पार्टी मनसे के बनाए जाने के बाद हाजी अरफात ने राज के साथ जाने का फैसला किया था। लेकिन बाद में वे शिवसेना में लौट आए थे। अब शिवसेना से नाराज होकर भाजपा में शामिल हुए हैं। महामंडलों के बंटवारे में भाजपा ने सहयोगी दल शिवसेना को नाराज किया है। इससे शिवसेना को झटका लगा है। भाजपा ने राष्ट्रवादी कांग्रेस के पूर्व विधायक नरेंद्र पाटील को अण्णासाहब पाटील आर्थिक विकास महामंडल का अध्यक्ष बनाया है। इससे पाटील का भी भाजपा में शामिल होना तय है।