comScore

कांग्रेस का राज्यव्यापी आंदोलन, प्याज निर्यात पर रोक से महाराष्ट्र में नाराजगी

कांग्रेस का राज्यव्यापी आंदोलन, प्याज निर्यात पर रोक से महाराष्ट्र में नाराजगी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्याज के निर्यात पर रोक लगाने के फैसले को लेकर राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार के मंत्री केंद्र सरकार के खिलाफ आक्रामक हो गए हैं। प्रदेश के मंत्रियों ने केंद्र सरकार से प्याज निर्यात पर प्रतिबंध को तत्काल हटाने की मांग की है। मंगलवार को भाजपा के सहयोगी तथा पूर्व कृषि राज्य मंत्री सदाभाऊ खोत के रयत क्रांति संगठन ने लासलगांव समेत कई जगहों पर केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन किया। जबकि प्रदेश कांग्रेस की ओर से बुधवार को राज्यव्यापी आंदोलन किया जाएगा। सत्ताधारी समेत अन्य दलों के आक्रामक रूख के बाद प्रदेश भाजपा ने केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल से प्याज निर्यात पर से रोक हटाने की मांग की है। 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष तथा राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात ने कहा कि केंद्र सरकार का फैसला हानिकारक है। प्याज के निर्यात पर लगी रोक को तत्काल वापस लिया जाए। थोरात ने कहा कि प्याज निर्यात पर लगी रोक को हटाने के लिए बुधवार को कांग्रेस की ओर से राज्य भर में आंदोलन किया जाएगा। प्रदेश के नागरिक आपूर्ति व ग्राहक संरक्षण मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि केंद्र सरकार के फैसले के कारण महाराष्ट्र के किसानों को बड़ा नुकसान होगा। इसलिए महाराष्ट्र के सभी सांसदों को एकजुट होना चाहिए। भुजबल ने कहा कि इस तरह से अचानक फैसला लेने से प्याज निर्यात का व्यापार टूट जाता है। दूसरे देश किसी और देश से प्याज खरीदने लगते हैं। 

प्रदेश के कृषि मंत्री दादाजी भुसे ने कहा कि केंद्र सरकार को तत्काल प्याज निर्यात पर रोक हटा देना चाहिए। हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस बारे में मांग करेंगे। प्रहार संगठन के प्रमुख तथा प्रदेश के स्कूली शिक्षा राज्य मंत्री बच्चू कडू ने कहा कि प्याज को जीवनावश्यक वस्तुओं की सूची से बाहर कर दिया गया है। ऐसे में केंद्र सरकार को यह फैसला लेने की कोई जरूरत नहीं थी। लेकिन मोदी सरकार ने किसानों की छाती पर तलवार चलाई है। कडू ने कहा कि केंद्र सरकार ने फैसला वापस नहीं लिया तो केंद्रीय कृषि और वाणिज्य मंत्रालय में जाकर किसान आंदोलन करेंगे।  

रयत क्रांति संगठन के संस्थापक तथा पूर्व कृषि राज्य मंत्री सदाभाऊ खोत ने कहा कि केंद्र सरकार ने फैसला वापस नहीं लिया तो महाराष्ट्र के किसान सड़क पर आ जाएंगे। स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के नेता रविकांत तुपकर ने कहा कि केंद्र सरकार ने प्याज निर्यात पर रोक लगाकर किसानों को आत्महत्या के द्वार पर खड़ा कर दिया है। किसान सभा के महासचिव डॉ. अजित नवले ने कहा कि केंद्र सरकार ने प्याज उत्पादक किसानों के साथ विश्वासघात किया है। किसान सभा दूसरे संगठनों के साथ मिलकर सड़क पर उतरेगी। 

केंद्रीय मंत्री से भाजपा नेताओं ने की बात

वहीं भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अनिल बोंडे ने कहा कि प्याज निर्यात पर लगी रोक को हटाने के लिए प्रयास चल रहा है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने इस संबंध में केंद्रीय मंत्री गोयल से बातचीत की है। 

कमेंट करें
o3RlG