दैनिक भास्कर हिंदी: कानून के हिसाब से बनेगा राम मंदिर : सुब्रमण्यम स्वामी

August 19th, 2017

डिजिटल डेस्क,नागपुर। राज्यसभा सांसद और आर्थिक-कानूनी मामलों के जानकार डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है कि राम मंदिर का निर्माण कानून के हिसाब से ही होगा। उन्होंने कहा कि कोई भी ज्ञानी व्यक्ति राम मंदिर को लेकर विरोध नहीं करेगा। कानून के मुताबिक ही राम मंदिर बनाने की कोशिश होगी। भाजपा के घोषणापत्र में भी यह वादा किया गया है।

गौरतलब है कि सुब्रमण्यम स्वामी  दैनिक भास्कर की ओर से आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने नागपुर पहुंचे थे। स्वामी ने होटल रेडीसन ब्ल्यू में दैनिक भास्कर के संपादकीय सहयोगियों से कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने राम मंदिर को लेकर कहा कि जो लोग विवाद पैदा करना चाहते हैं, वे ही इस पर सवाल खड़े कर रहे हैं। मैंने ऐसी कोई बात नहीं की, जो सरकार के विरोध में जाती हो। कुछ लोग मेरी ऐसी छवि बनाने की कोशिश में हैं कि मैं विद्रोही हूं। वहीं उन्होंने चर्चा के दौरान कई सवालों के वेबाकी से जवाब दिए। 

सवाल- राम मंदिर की जगह पर शिया समुदाय का दावा कितना सही? 
जवाब- यह शिया समुदाय की मस्जिद थी। मुतवानी इसके इंचार्ज थे। साल 1946 में जब विभाजन चल रहा था, सुन्नी समुदाय के लोग कोर्ट में पहुंच गए थे। उनका दावा था कि हम भी यहां नमाज पढ़ते हैं। हम देख-रेख कर सकते हैं। उस समय शिया समुदाय ने कोई अपील नहीं की, इसलिए सुन्नी समुदाय को इसका कब्जा दिया गया। शिया समुदाय असली हकदार है। शिया समुदाय ने कोर्ट में हलफनामा देकर कहा है कि हमें मस्जिद नहीं बनाना है। उन्होंने कहीं भी जमीन देने की मांग की है। अब हम कोर्ट में जीत जाएंगे। मस्जिद सरयू नदी के उस पार जमीन देंगे। अब बातचीत का कोई मतलब नहीं है।  

सवाल- क्या नोटबंदी में आपके सुझाव नहीं माने गए ?
जवाब- नोटबंदी की कल्पना अच्छी है। मैंने 2004 में ही इसका सुझाव दिया था। अभी उसे लागू किया गया। हालांकि इसके लिए मैंने कुछ अहम सुझाव दिए थे। 100 रुपए के नोट 6 गुना अधिक जारी करने के साथ 200 रुपए के नोट भी जारी करने का सुझाव दिया था। 

सवाल- चीनी वस्तुओं के बहिष्कार पर अलग-अलग राय क्यों ?
जवाब- चीनी वस्तुओं का बहिष्कार सरकार को करना चाहिए या जनता को, कौन जबर्दस्ती कर रहा है। इसके लिए कोई कानून नहीं बना है। हवा बनाने की कोशिश हो रही है। 

सवाल- अभिनेता रजनीकांत से क्यों नाराज है ?
जवाब- अभिनेता रजनीकांत 420 हैं। मीडिया दो महीने से कह रही है कि वे भाजपा में आ रहे हैं। अब तक नहीं आए। 

सवाल- 1970 के 13 शराबी मंत्रियों के नाम आपने नहीं बताए ?
जवाब- 13 मंत्री थे, जो शराब पीते थे। उस समय मैंने रात 10 बजे के बाद कैबिनेट बैठक बुलाने का सुझाव तत्कालीन प्रधानमंत्री को दिया था। अगर रात में कैबिनेट बैठक बुलाते तो पता चल जाता कितने आए और कितने नहीं? इससे अंदाजा लगाना आसान हो जाता। अब उनके निधन के बाद नाम उजागर करना ठीक नहीं है।