• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Surajpur: Work will be done to connect the residents of Baijanpath with the mainstream and development of the area

दैनिक भास्कर हिंदी: सूरजपुर : बैजनपाठ के वासियों को मुख्यधारा से जोड़ने एवं क्षेत्र के विकास के लिए किया जाएगा कार्य-कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा

January 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, सूरजपुर। बैजनपाठ के रहवासियों से मुलाकात कर वास्तविक स्थिति को जाना कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देशन में आज जिले के ओड़गी विकासखंड के दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्र में स्थित ग्राम बैजनपाठ पहुंच संयुक्त कलेक्टर श्री शिव कुमार बनर्जी की अगुवाई में प्रशासिनक अमला बैजनपाठ के रहवासियों से मुलाकात कर वहां की वास्तविक स्थिति को जाना तथा वहां की समस्याओं, परेशानियों जैसे सड़क आवागमन, पानी, बिजली, राशन कार्ड, रेडी टू ईट, पेंशन, स्वास्थ्य, शिक्षा व्यवस्था, जाति निवास सहित शासन की कल्याणकारी योजनाओं से मिलने वाले सुविधा एवं लाभ के संबंध में बात की। उल्लेखनीय है कि पहाड़ों से घिरा सूरजपुर का यह विकासखंड जितना सुंदर दिखाई पड़ता है उतना ही वहां का जन जीवन समस्याओं के बीच पल रहा है। हम बात कर रहे हैं ओड़गी विकासखंड के ग्राम बैजनपाठ, महुली, लुल्ह, भुण्डा एवं खैरा की। यह नाम कुछ ऐसे बीहड़ इलाकों की है। जहां न तो सड़के जाती है न ही जमीन खोदने पर पानी निकलता है। पहाड़ों के उपर बसे होने से गांव के रहवासियों को कई सुविधाएं नहीं पहुंच पाती। इन्ही सब समस्याओं को जानने कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा के निर्देशन में क्षेत्र के विकास एवं मुख्यधारा से जोड़ने संयुक्त कलेक्टर सहित पूरा प्रशासनिक अमला ग्राम बैजनपाठ पहुंचा है। कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा स्वयं विगत दिनों सितंबर माह में अधिकारियों संग दौरा कर वास्तविक स्थिति से अवगत हुए थे। बैजनपाठ ग्राम पंचायत खोहिर का आश्रित ग्राम है बैजनपाठ की जनसंख्या लगभग 550 एवं कुल 146 परिवार निवास करती है। आश्रित ग्राम लूल्ह की जनसंख्या 384 है। बैजनपाठ में उपलब्ध सुविधाओं में एक प्राथमिक शाला, एक आंगनबाड़ी केन्द्र व ग्राम लूल्ह मंे एक प्राथमिक शाला जो एक निजी भवन में संचालित हैं तथा एक आंगनबाड़ी केन्द्र है जो शासकीय भवन में संचालित हो रहा है। आश्रित ग्राम मुण्डा में एक प्राथमिक शाला और एक माध्यमिक शाला है यह शासकीय भवन में संचालित हो रहा है। शासकीय उचित मूल्य दुकान खोहिर के अंतर्गत राशन कार्ड खोहिर ग्राम में अंन्त्योदय कार्ड 28, प्राथमिकता कार्ड 64, बैजनपाठ में राशन अंत्योदय कार्ड 40, प्राथमिकता कार्ड 68, मुण्डा में राशन अंत्योदय कार्ड 20, प्राथमिकता कार्ड 26, लूल्ह ग्राम में राशन अंत्योदय कार्ड 26, प्राथमिकता कार्ड 17 बनाये गये हैं। 23 नये राशन कार्ड बनने के लिए आवेदन जनपद पंचायत ओड़गी भेजा गया है। शासकीय उचित मूल्य दुकान खोहिर का मासिक आबंटन अंत्योदय कार्ड 39.90 क्विंटल चावल, प्राथमिकता कार्ड 59.36 क्विंटल चावल, मध्यान्ह भोजन चावल प्राथमिक शाला के लिए 4.50 क्विंटल, माध्यमिक शाला के लिए 1.90 क्विंटल, चना एवं रिफाइंड नमक 5.16 क्विंटल, शक्कर 288 क्विंटल आबंटित किया जाता है। बैजनपाठ ग्राम में कोई कृषक पंजीकृत नहीं है। ग्राम बैजनपाठ रिजर्व फोरेस्ट के पहाड़ी पर बसा है। बैजनपाठ पेयजल की समस्या के निदान हेतु पूर्व में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा केलिक्स मशीन से तीन नलकूप का खनन किया गया था जो सभी असफल रहे हैं। ग्राम की भौगोलिक स्थिति पहाड़ की चोटी पर स्थित होने के कारण ग्रीष्म ऋतु में कुआं सुख जाता है। जिसके निदान हेतु जिले में उपलब्ध डीएमएफ मद से 45.78 लाख की लागत से पेयजल की व्यवस्था हेतु कार्य योजना 24 मार्च 2017 को प्रदान की गई थी। स्वीकृत योजना के तहत लगभग 2 किमी की दूरी एवं 190 मीटर नीचे स्थित प्राकृतिक जल स्रोत तुर्रा से विभिन्न स्टेज पर दो सम्पवेल में जल संग्रहण कर सोलर पावर पेय के माध्यम से पाइप लाइन 2.50 किमी बिछाकर ग्राम में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था उपलबध कराई गई है। बैजनपाठ में पेंशन हितग्राही को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धा पेंशन के तहत बैजनपाठ में 14 एवं लूल्ह में 13, सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत बैजनपाठ में 09 एवं लूल्ह 03, सुरक्षा सहारा पेंशन के तहत बैजनपाठ में 04 लूल्ह में 01, मुख्यमंत्री पेंशन के तहत बैजनपाठ में 03 एवं लूल्ह में 05 के तहत हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है। ग्राम बैजनपाठ में 16 जाति प्रमाण पत्र, 21 निवास प्रमाण पत्र जारी किया गया है जिसमें 2 पंडो जाति का भी शामिल है। नरेगा के अंतर्गत बैजनपाठ के बहरा में मिटटी बांध कार्य, सोमा घर से घुईगड़ई तक मिटटी मुरूम सड़क निर्माण कार्य, घुईगड़ई में शासकीय भूमि में डबरी निर्माण, शासकीय भूमि में घुईगड़ई के पास 30-40 निर्माण कार्य, बिहारी सिंह के निजी भूमि में 30-40 निर्माण कार्य, जयराम सिंह के निजी भूमि में 30-40 निर्माण कार्य एवं देवा नदी में बड़ा मिटटी बंध निर्माण का कार्य किया जाना प्रस्तावित है।