comScore

लॉगइन करने में छूटे पसीने, पेपर सबमिट करने में भी आई परेशानी

लॉगइन करने में छूटे पसीने, पेपर सबमिट करने में भी आई परेशानी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सोमवार को राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित इंजीनियरिंग की परीक्षा तकनीकी गड़बड़ी की भेंट चढ़ गई। पहले तो एप में लाॅगइन करने में विद्यार्थियों के पसीने छूट गए। कई बार प्रयास के बाद जब लॉगइन हुआ, तो अंत में पेपर सबमिट करने में अनेक विद्यार्थियों को परेशानी हुई। हैरान-परेशान विद्यार्थी कभी विवि की हेल्पलाइन पर तो कभी अपने कॉलेज में फोन करके मदद मांगते रहे। विवि के प्राधिकरण सदस्यों और अधिकारियों के फोन भी दिन भर घनघनाते रहे। 3.30 बजे का पेपर शाम 4 बजे के बाद ही शुरू हो सका और शाम 6 बजे तक चला। इसके बाद भी पेपर सबमिट करने में विद्यार्थियों काे भारी परेशानी हुई। आखिर तक विद्यार्थियों को पता नहीं चला कि उनका पेपर सबमिट हुआ या नहीं।

विवि प्रशासन ने नहीं दिया कोई उत्तर

मामले में सोमवार को नागपुर विवि के अधिकारियों ने चुप्पी साध ली। विद्यार्थियों की शिकायत रही कि हेल्पलाइन नंबर पर उनके फोन नहीं उठाए जा रहे, आधे नंबर स्विच ऑफ है। हमने भी अधिकारियों से संपर्क करने की कोशिश की, हमारा फोन भी नहीं उठाया गया। कुलगुरु डॉ.एस.आर.चौधरी ने फोन नहीं उठाया। परीक्षा नियंत्रक डॉ.प्रफुल्ल साबले ने भी कोई उत्तर नहीं दिया। 

ऐसी रही उपस्थिति

सत्र    परीक्षार्थी    उपस्थिति
पहला    2505    2459
दूसरा    186    180
तीसरा    1744    1720
चौथा    11289    11091

परीक्षा के नाम पर मजाक

प्रतिदिन सैकड़ों विद्यार्थी परीक्षा से वंचित रह रहे हैं। ऐसा लगता है कि विवि परीक्षा के नाम पर मजाक कर रहा है। यह ठीक नहीं है। यदि ऑनलाइन परीक्षा नहीं ले पा रहे हैं, तो इसे यहीं रोक देना चाहिए। विद्यार्थियों का नुकसान नहीं करना चाहिए। 
-सरिता निंबार्ते, सीनेट सदस्य 
ऑफलाइन परीक्षा लें

सोमवार को बड़ी संख्या में इंजीनियरिंग के विद्यार्थी परीक्षा से वंचित रह गए। इनकी तुरंत ऑफलाइन परीक्षा लेनी चाहिए, ताकि वे अन्य विद्यार्थियों के मुकाबले पिछड़ न जाएं।
- एड.मनमोहन वाजपेयी, सीनेट सदस्य

विद्यार्थियों का नुकसान बर्दाश्त नहीं

जिस तरह परीक्षा चल रही है, यह तरीका गलत है। विवि को तत्काल प्रभाव से परीक्षा प्रणाली सुधारनी पड़ेगी और किसी विद्यार्थी का नुकसान न हो यह सुनिश्चित करना होगा। विद्यार्थियों का नुकसान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 
- विष्णु चांगदे, मैनेजमेंट     काउंसिल सदस्य 
 

कमेंट करें
6NegQ