भीमा-कोरेगांव: भाई की मौत को लेकर जमानत चाहते हैं तेलतुंबडे, गडचिरोली मुठभेड़ में मारा गया था मिलिंद

November 23rd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भीमा-कोरेगांव के एल्गार परिषद मामले में आरोपी आनंद तेलतुंबडे ने अंतरिम जमानत दिए जाने की मांग को लेकर मुंबई में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की विशेष अदालत में आवेदन दायर किया है। आवेदन में तेलतुंबडे ने कहा है कि 13 नवंबर 2021 को गड़चिरोली हुई पुलिस मुठभेड़ उनके भाई मिलिंद की मौत हो गई है। इसलिए मुझे थोड़े दिनों के लिए अंतरिम जमानत दी जाए। नई मुंबई की तलोजा जेल में बंद तेलतुंबडे ने कहा है कि भाई की मौत के चलते उनके शोकाकुल परिवार को उनकी जरुरत है। इसलिए मुझे 15 दिन की अंतरिम जमानत प्रदान की जाए। आवेदन में तेलतुंबडे ने कहा है कि वे घर में सबसे बड़े हैं। उनके घर जाने से न सिर्फ उनकी 90 साल की मां को राहत मिलेगी बल्कि परिवार के सदस्यों को भावनात्मक समर्थन मिलेगा। तेलतुंबडे अप्रैल 2020 से जेल में बंद है। कोर्ट से राहत न मिलने के बाद तेलतुंबडे ने एनआईए के सामने आत्मसमर्पण किया था। 
 

खबरें और भी हैं...