• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Tent was stretched outside the house, bed was set, people in panic - heavy tremors due to earthquake in Seoni

दैनिक भास्कर हिंदी: घर के बाहर तन गया तम्बू, लग गया बिस्तर, दहशत में लोग -सिवनी में भूकंप से भारी घबराहट  

November 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क  सिवनी । एक बार फिर सिवनी को हिला कर रख देने वाला रात 1.45 बजे आए 4.3 तीव्रता के भूकंप का केन्द्र सिवनी में ही 10 किमी गहराई में था।  यह सिवनी में 22.10 उत्तरी अक्षांश 79.55 पूर्वी देशांतर के निकट रहा। हालांकि कुछ वैज्ञानिकों ने केवलारी के जंगल में भूकंप का केन्द्र होने की आशंका भी जिला प्रशासन से जाहिर की है। जिला प्रशासन भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिकों के सतत् संपर्क में है। जिला प्रशासन द्वारा नागरिकों की जान-माल की सुरक्षा हेतु मौसम विज्ञान विभाग द्वारा बताई गईं सभी सतर्कता बरतने के प्रयास लगातार किए जा रहे हैं। कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग द्वारा पुलिस, होमगाड्र्स, एसडीआरएफ, स्वास्थ्य एवं स्थानीय प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारियों को समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए अलर्ट पर रहने हेतु निर्देशित किया गया है।

अब तो तंबू बनाकर रहने की तैयारी
चूनाभट्टी इलाके में लगातार हो रही भूगर्भीय हलचल के कारण हलाकान लोग अब अपने घरों के भीतर जाने में भी डर  रहे हैं। रविवार को आए भूकंप के बाद कई लोग लकड़ी काटकर तंबू बनाने की तैयारी करते नजर आए। लोगों का कहना है कि वे अब घरों के भीतर नहीं जाएंगे बल्कि तंबू बनाकर ही गुजारा करेंगे।

एनडीआरएफ की टीम बुलाई
सिवनी में बार-बार आ रहे भूकंप को देखते हुए कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग ने एनडीआरएफ की टीम बुलाई है। बताया गया कि यह टीम सोमवार तक सिवनी पहुंच जाएगी। इसके साथ ही भूकंप कंट्रोल रूम के अमले को 24 घंटे अलर्ट रहने को कहा गया है। वैज्ञानिकों ने भूकंप के बाद अगले 24 घंटे तक काफी सतर्क रहने को कहा है। इसके चलते जिला प्रशासन इस बार के भूकंप को हलके में नहीं ले रहा है।
सीएम ने ली जानकारी, कहा लोगों की हिफाजत करें
सिवनी में भूकंप आने की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को जिला प्रशासन से विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने कलेक्टर डॉ. राहुल को भारत सरकार के मेट्रोलॉजी विभाग से सतत् संपर्क में रहते हुए भूकंप की स्थिति में बरती जानी वाली सावधानियों की जानकारी प्राप्त कर आमजन को अवगत करवाने के निर्देश दिए, ताकि आमजन में भय की भावना उत्पन्न न हो। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिला प्रशासन द्वारा नागरिकों को विभिन्न जनमाध्यमों से आवश्यक परामर्श भी दिया जाए। जिला प्रशासन भूकंप को लेकर अलर्ट पर रहे।
नानू भूकंप आया, बाहर निकलो
इंद्रहंस नगर में अपने नाना, नानी के घर आई 05 साल की मासूम बच्ची शान्वी को भी भूकंप के तेज झटके का अहसास हुआ। रात को तेज कंपन होते ही उसकी नींद खुल गई और व नानू भूकंप आया, नानू भूकंप आया चिल्लाने लगी। वह अपने नाना व नानी को घर के बाहर ले आई। नाना.... व नानी.... नन्ही बिटिया की सतर्कता से आश्चर्य में रहे। तीनों काफी देर तक अपने घर के बाहर खड़े रहे।
हर घंटे आ रहे हैं दो से चार झटके
जिला मुख्यालय सहित आसपास के इलाकों में लगातार हो रही भूगर्भीय घटनाओं से उपनगरीय इलाकों के रहवासियों की नींद उड़ी हुई है। चूनाभट्टी और डोरली छतरपुर के लोगों का कहना है कि पिछले चार माह से वे लगातार इस तरह के झटकों को झेल रहे हैं। लोगों का कहना है कि यदि आप उनके पास यदि आधा घंटा  बैठ जाएं तो एक झटका तो जरूर लग जाएगा। लोग इन झटकों से काफी घबराए हुए हैं।
कोई घर नहीं है सलामत
जिले में हाल के दिनों में आए झटकों के कारण डोरली छतरपुर और चूनाभट्टी इलाके में एक  भी मकान ऐसा नहीं है जिसमें दरार न हो। लगातार आ रहे झटकों ने इन बस्तियों के घरों की नींव हिलाकर रख दी है। घर का कोई भी कोना सुरक्षित नहीं है। इन बस्तियों में आमतौर पर रोज कमाने खाने वाले मजदूर परिवार ही रहते हैं। आशियाने के कभी भी भरभराकर गिर जाने की आशंका उन्हें लगातार परेशान किए जा रही है।
अब तो तंबू बनाकर रहने की तैयारी
चूनाभट्टी इलाके में लगातार हो रही भूगर्भीय हलचल के कारण हलाकान लोग अब अपने घरों के भीतर जाने में भी डर  रहे हैं।