दैनिक भास्कर हिंदी: 5 नवंबर तक एसटी बसों का किराया बढ़ा, 10 प्रतिशत अधिक देना होगा

October 25th, 2019

डिजिटल  डेस्क, नागपुर। त्योहारों के कारण यात्रियों की भीड़ बहुत ज्यादा बढ़ गई है। ट्रेनों के साथ बसों में भी जमकर भीड़ देखने मिल रही है। लेकिन इन दिनों एस टी बसों का किराया यात्रियों की जेब खाली कर रहा है। क्योंकि प्रशासन ने 24 अक्तूबर के मध्यरात्रि से 5 नवंबर तक 10 प्रतिशत एस टी बसों का सफर महंगा कर दिया है। ऐसे में नागपुर से पुणे शिवशाही का किराया 15 सौ को भी पार कर गया है। ऐसे में ट्रेनें हाउसफुल व निजी बसों में लूट के बाद एस टी बसों पर निर्भर रहनेवाले यात्रियों पर जाएं तो जाएं कहां की स्थिति आ गई है। यात्री अपने गंतव्य तक जाने के लिए परेशान हो रहे हैं।।  नागपुर विभाग में कुल 580 से ज्यादा बसें है। जिसमें लाल बसों के अलावा शि‌वशाही बसें भी शामिल हैं। इन बसों पर रोजाना बड़ी संख्या में यात्री निर्भर रहते हैं। दिवाली के दिनों में रेलवे के अलावा बसों में भी यात्रियों की भीड़ बढ़ जाती है।  इसी बात को ध्यान में रखते हुए एस टी प्रशासन ने हालही में किराया बढ़ाया है।

शिवशाही का किराया  

शहर                 पुराना किराया          नया किराया

 पुणे                 1370                1507 रुपये

हैद्राबाद               900                 990 रुपये

यवतमाल              290                 320

चंद्रपुर                290                 320

औरंगाबाद             940                 1034 रुपये

वर्धा                  145                 159 रुपये

लाल बसों का किराया 

रायपुर                305                 335 रुपये

चंद्रपुर                195                 205 रुपये

पुणे                  925                 1017 रुपये

औरंगाबाद             635                 698 रुपये

शिवनी                150                 165 रुपये

इंदौर                 665                 731 रुपये

कर्मचारियों को मिलेगा बोनस 
दिवाली के दो दिन पहले एस टी प्रशासन उपरोक्त बढ़ाये किराये से मिलेनेवाली आमदनी से कर्मचारियों को खुश करनेवाली है। कर्मचारियों को ढाई हजार रुपये बोनस दिया जाने वाला है। हालांकि इससे कर्मचारी संतुष्ट नहीं दिख रहे हैं।  कंर्मचारियों  का कहना है कि इतनी महंगाई में ढाई हजार रुपए में दिवाली कैसे मनाई जा सकती है। महाराष्ट्र एस टी कामगार सेना ने बोनस की राशि बढ़ाने की मांग भी की है। 

खबरें और भी हैं...