comScore

ट्रेक्टर पलटा, नीचे दबकर पति-पत्नी की मौत , रोपा लेकर जा रहे थे खेत

ट्रेक्टर पलटा, नीचे दबकर पति-पत्नी की मौत , रोपा लेकर जा रहे थे खेत

डिजिटल डेस्क, शहडोल। ट्रेक्टर पलटने की घटना में पति-पत्नी की दर्दनाक मौत हो गई। यह हादसा गुरुवार को जैतपुर थाना क्षेत्र के ग्राम भरुहा के पास हुआ। जानकारी के अनुसार भरुहा निवासी रामप्रसाद सिंह 35 वर्ष सेमारटोला स्थित अपने खेत में रोपा लगवाने के लिए सरपंच का ट्रेक्टर लेकर खेत की ओर जा रहा था। ट्राली में धान की नर्सरी लोड किया था। रामप्रसाद खुद ट्रेक्टर चला रहा था। बगल वाली सीट में उसकी पत्नी ओमवती भी बैठी थी। पुलिया के पास अचानक ट्रेक्टर पलट गया, जिसके नीचे दोनों दब गए। आस पास के लोगों ने देखा और डायल 100 को फोन किया। जैतपुर से टीआई सहित अन्य लोग पहुंचे। शव को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। 

लेफ्ट टर्न को ओपन नहीं करवा पा रहा नगरपालिका प्रशासन

शहर की यातायात व्यवस्था पर अफसरशाही का ग्रहण लगा हुआ है। बड़े शहरों की तर्ज पर कुछ चौराहों पर इलेक्ट्रिक सिग्नल व्यवस्था लागू तो कर दी गई लेकिन उसके अनुरूप सुविधा प्रदान नहीं की गई है। जय स्तंभ चौक को छोड़ दिया जाए तो शहर के किसी भी चौराहे में लेफ्ट टर्न का पता ही नहीं है। सड़क के चारों ओर अतिक्रमण की भरमार है। बाएं दिशा की ओर जाने वाले वाहनों को भी खड़ा होना पड़ता है। जिसके कारण हर समय जाम की स्थिति बनती रहती है। व्यवस्था को लेकर नगरपालिका पर जिम्मेदारी मढ़ी जा रही है। क्योंकि अतिक्रमण हटाने का काम नगरपालिका प्रशासन का है। लेकिन उसके द्वारा सारी कवायद कागजों तक ही सीमित होकर रह गई है। नपा प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाना तो दूर की बात है किसी भी चौराहे पर जेब्रा क्रासिंग नहीं बनाया गया है। सिग्नल के पास वाहन अपनी मर्जी से खड़े होते हैं। पार्किंग लाइन का भी यही हाल है। कुल मिलाकर यातायात विभाग और नगरपालिका प्रशासन के बीच बेहतर समन्वय नहीं होने के कारण लोगों को अनावश्यक रूप से परेशान होना पड़ रहा है।
 

कमेंट करें
E5rm4