दैनिक भास्कर हिंदी: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए 139 पेड़ों की होगी कटाई

January 29th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए पूर्व नागपुर में प्रस्तावित 52 किमी लंबी सड़क  निर्माण के लिए 139 पेड़ों के काटे जाने का उद्यान विभाग ने प्रस्ताव लाया है। इसके खिलाफ शहर के पर्यावरणविद खुलकर सामने आ गए हैं। लोग मनपा के उद्यान विभाग काे विरोध में पत्र भेज रहे हैं। उद्यान विभाग के सुपरिटेंडेंट ने  कुछ पत्र मिलने की बात स्वीकारते हुए कहा कि पत्र भेजने वालों से वे पूछेंगे कि क्या उन्होंने प्रस्तावित जगह पर जाकर वास्तविक स्थिति देखी है? कुछ लोग बिना सही स्थिति जाने विरोध करना शुरू कर देते हैं। पर्यावरणविद जयदीप दास का कहना है कि हाल ही में इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गनाइजेशन (इसरो) के रीजनल रिमोट सेसिंग सेंटर की ओर से किए गए अध्ययन में शहर के कई भागों में ग्रीन कवर के गायब होने की बात सामने आई है। खासकर पूर्व नागपुर की स्थिति सबसे बदतर है। ऐसे में उस इलाके में पूर्ण विकसित पेड़ों की कटाई को स्मार्ट मूव नहीं कहा जा सकता है। 

क्या है मामला? 
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत एनएसएससीडीसीएल द्वारा पूर्व नागपुर में 52 किमी लंबी सड़क का निर्माण प्रस्तावित है।  यह सड़क पारडी, पूनापुर, भरतवाड़ा और भांडेवाड़ी से गुजरेगी। इस संबंध में मनपा के उद्यान विभाग की ओर से 24 जनवरी को नोटिस जारी कर सुझाव और आपत्ति मंगवाएं गए थे। इसके लिए 7 दिन का समय दिया गया है। 

कहां काटे जाने हैं पेड़
पारडी में नवीन नगर स्थित सुदरू फैक्टरी से भवानी हॉस्पिटल तक प्रस्तावित सड़क के लिए- 68 पेड़
पूनापुर में श्री भवानी माता मंदिर के गेट से भरतवाड़ा रोड तक प्रस्तावित सड़क के लिए-33 पेड़
भंडारा नेशलन हाईवे से पूनापुर रोड पर- 29 पेड़
भरतवाड़ा से नव कन्या नगर रोड एमसी 01-6
भरतवाड़ा से नव कन्या नगर रोड एमसी 01-3  
नियम- महाराष्ट्र (अर्बन एरिया) प्रिवेंशन ट्री एक्ट, 1975 के अनुसार पेड़ नहीं काटे जा सकते हैं और काटे गए तो पेड़ों को ट्रांसप्लांट करना जरूरी है। नागपुर में अब तक किए गए ट्रांसप्लांट सफल नहीं रहे हैं। 

खबरें और भी हैं...