comScore

सरकार के दबाव में दूरदर्शन दबा रहा विपक्ष की आवाज - कांग्रेस

सरकार के दबाव में दूरदर्शन दबा रहा विपक्ष की आवाज - कांग्रेस

डिजिटल डेस्क, मुंबई। जिस दूरदर्शन ने कभी देश में ज्ञान की अलख जताई थी, उसी पर अब आवाज दबाने के आरोप लग रहे हैं। ये आरोप कांग्रेस ने लगाया है। कांग्रेस का कहना है कि दूरदर्शन सरकार के दबाव में विपक्षी पार्टियों की आवाज दबाने की कोशिश कर रहा है। इसी के चलते मतदान की अपील करने वाली कांग्रेस पार्टी की स्क्रिप्ट में बदलाव कर दिया गया। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस समिति के महासचिव और प्रवक्ता सचिन सावंत ने यह आरोप लगाया है। सावंत के मुताबिक दूरदर्शन की यह हरकत विपक्ष के संवैधानिक अधिकारों और अपनी बात रखने की स्वतंत्रता का लगा घोंटने वाली है।

कांग्रेस की चुनाव प्रचार स्क्रिप्ट में किया बदलाव 

सावंत के मुताबिक दूरदर्शन पर राजनीतिक दलों को चुनाव प्रचार के लिए टाईम स्लॉट मिलता है। इसके लिए कांग्रेस ने एक स्क्रिप्ट दी थी। कांग्रेस की स्क्रिप्ट में लिखा हुआ था कि ‘पिछले पांच सालों में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आंख में धूल झोंकने और झूठ बोलने के अलावा कुछ नहीं किया है।’ लेकिन दूरदर्शन की जांच समिति ने इन शब्दों को स्क्रिप्ट से निकाल दिया। सावंत ने कहा कि किसी कार्यक्रम में अपनी बात रखने का विपक्ष को संवैधानिक अधिकार है लेकिन दूरदर्शन ने इस पर रोक लगा दी है। सावंत ने कहा कि इस तरह विपक्ष को अपनी बात रखने से रोकना आपत्तिजनक है और दूरदर्शन यह लिखकर दे कि स्क्रिप्ट से वह शब्द क्यों निकाले गए और क्या मुख्यमंत्री हमेशा सच बोलते हैं। ऐसा होने तक हम रिकॉर्डिंग नहीं करेंगे। 

विपक्ष की आवाज दबा रहा दूरदर्शन

उन्होंने सवाल किया कि सरकार के कामकाज पर टिका टिप्पणी से रोकने का अधिकार दूरदर्शन को किसने दिया। यह साफ होना चाहिए कि दूरदर्शन किसके दबाव में विपक्ष को मुख्यमंत्री के खिलाफ बोलने से रोक रहा है। क्या दूरदर्शन सिर्फ सरकार की आवाज जनता तक पहुंचाने के लिए है। सावंत ने कहा कि विपक्ष को सरकार की आलोचना का अधिकार संविधान ने दिया है और इस पर रोक स्वीकार नहीं किया जाएगा।      

कमेंट करें
voEsO