Corona : दिसंबर तक महाराष्ट्र में पूरा हो जाएगा टीकाकरण, कमजोर होगी तीसरी लहर

October 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना महामारी की दूसरी लहर कमजोर पड़ती दिख रही है पर अभी तीसरी लहर की संभावना खत्म नहीं हुई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि विशेषज्ञों की राय में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है पर यह कमजोर होगी। वैक्सिन के चलते तीसरी लहर के ज्यादा प्रभावी होने की आशंका नहीं है। मंत्रालय स्थित अपने कार्यालय में ‘दैनिक भास्कर’ से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि टास्कफोर्स के विशेषज्ञों सहित अन्य जानकार कोरोना की तीसरी लहर की संभावना से इंकार नहीं कर रहे हैं पर इसको लेकर चिंतित होने की जरुरत नहीं है क्योंकि तीसरी लहर आई भी तो यह काफी कमजोर होगी। कोरोना की पहली व दूसरी लहर की तरह जानलेवा नहीं होगी। टोपे ने कहा कि अभी तक महाराष्ट्र में 9 करोड़ डोज लगाई जा चुकी है। इसमें से 2 करोड़ 90 लाख लोगों को कोरोनारोधी टीके की दोनों खुराक दे दी गई है। फिलहाल 70 फीसदी जनसंख्या का टीकाकरण हो चुका है। एक सवाल के जवाब में टोपे ने कहा कि हमें उम्मीद है कि इस साल दिसंबर तक महाराष्ट्र में टीकाकरण पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि फिलहाल टीके की कोई किल्लत नहीं है। केंद्र से हमें भरपूर टीका मिल रहा है।   

2500 बिलों में मिली शिकायत 

कोरोना मरीजों के साथ निजी अस्पतालों द्वारा ज्यादा बिल वसूलने के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अभी तक हमें 2500 बिलों में ऐसी शिकायत मिली है। इसमें कार्रवाई की गई है। अस्पतालों ने पैसे वापस किए हैं। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी और कमिश्नर को ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा गया है। लोग वहां अपनी शिकायत कर सकते हैं।  

अभी भी कुछ नहीं लेना चाहते वैक्सिन

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हम चाहते हैं कि सभी लोग जल्द से जल्द टीका लगवा ले पर एक समुदाय विशेष के कुछ लोग अभी भी टीकाकरण से बच रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें समझाने के लिए काउंसलिंग की जाएगी। उन्हें वीडियो दिखा कर समझाया जा रहा है कि कोरोनारोधी वैक्सिन किसी भी तरह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं है। इसको लेकर हमने उनके धर्मगुरुओं से भी मुलाकात की है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि समझाने-बुझाने के बावजूद टीका न लेने वालों के साथ हम जबरजस्ती नहीं कर सकते। 

महाराष्ट्र में यू कम हो रहे कोरोना के मामले
 
         दिनांक                  कुल मामले
        16 अक्टूबर                  1553
        17 अक्टूबर                  1715
        18 अक्टूबर                  1485
        19 अक्टूबर                  1638
        20 अक्टूबर                  2879
        21 अक्टूबर                  1573
      
        

खबरें और भी हैं...