दैनिक भास्कर हिंदी: वसंत पुरके ने दिखाया आईना, कहा- विधानसभा चुनाव को हल्के में लिया गया

November 4th, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर। पूर्व मंत्री व विधानसभा चुनाव में पराजित उम्मीदवार वसंत पुरके ने कहा कि देश में 70 वर्ष सत्ता में रही कांग्रेस के पास आज भी अनेक दमदार नेता हैं। उनके पास नेतृत्व और वक्तृत्व है, लेकिन राज्य के विधानसभा चुनाव में उनका सही उपयोग नहीं किया गया। प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी की अनुपस्थिति के कारण अनेक स्थानों पर चुनकर आने वाले उम्मीदवार पिछड़ गए। राज्य के नेतृत्व ने भी अपने निर्वाचन क्षेत्र में ताल ठोकी। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव को हल्के में लेने से अपेक्षित सफलता नहीं मिली। 
दक्षिण-पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र के कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. आशीष देशमुख ने अनसुया मंगल कार्यालय में विदर्भ के पराजित उम्मीदवारों का सत्कार कार्यक्रम आयोजित किया था। इस अवसर पर वे बोल रहे थे। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री रणजीत देशमुख, मुकुंदराव पन्नासे, विनोद गुड़धे पाटील सहित अन्य उम्मीदवार उपस्थित थे। हालांकि कार्यक्रम से नागपुर शहर और ग्रामीण कांग्रेस के अनेक पराजित उम्मीदवार गायब रहने फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। 

आलाकमान से की जाएगी शिकायत
प्रा. पुरके ने कहा कि चुनाव में पराजित उम्मीदवारों को पार्टी भी नजरअंदाज करती है, लेकिन ऐसा सत्कार कर पराजितों को नवसंजीवनी देने जैसा है। इससे उम्मीदवारों को आशावादी बनकर दोबारा काम पर लगना होगा। कांग्रेस को भाजपा हरा नहीं सकती। कांग्रेस को हराने वाले पार्टी के कुछ शुक्राचार्य हैं। उन्हें बाहर का रास्ता दिखाएं।  इस बारे में पार्टी आलाकमान से शिकायत की जाएगी। अब पराजितों को दोबारा मौका देकर उन्हें चुनकर लाने के लिए पार्टी पहल करे। इस दौरान उन्होंने विविध कविता और शायरी कर पराजित उम्मीदवारों में जोश भरा। कार्यक्रम में गड़चिरोली के उम्मीदवार डॉ. स्वाति कोडवते, वर्धा के शेखर शेंडे, गोंदिया के अमर वऱ्हाडे, वाशिम की रजनी राठोड़, चिमूर के सतीश वारजुरकर, बुलढाणा की स्वाति वाकेकर, चंद्रपुर के विश्‍वास झाडे, अकोट के संजय बोडखे, रिपाई (कवाडे) के जयदीप कवाडे ने भी विचार रखे। इस अवसर पर पराजित उम्मीदवारों का सत्कार किया गया। मंच पर अनंत घारड व सभी पदाधिकारी उपस्थित थे। 

शहर, ग्रामीण के उम्मीदवार गायब 
डॉ. आशीष देशमुख की ओर से आयोजित कार्यक्रम में वाशिम, यवतमाल, गड़चिरोली, चंद्रपुर, गोंदिया, भंडारा, वर्धा और अन्य जिलों के सभी उम्मीदवार उपस्थित थे, लेकिन शहर से बंटी शेलके, गिरीश पांडव, पुरुषोत्तम हजारे और ग्रामीण से सुरेश भोयर गायब रहे। सिर्फ रामटेक के गज्जू यादव उपस्थित थे। अन्य उम्मीदवारों की अनुपस्थिति से एक बार फिर कांग्रेस चर्चा में रही। 
 

खबरें और भी हैं...