दैनिक भास्कर हिंदी: 18 प्लस का टीकाकरण : बहुत कम बची हैे कोरोना वैक्सीन, जिले में सिर्फ केंद्र से ही होगी शुरुआत

April 30th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश में महाराष्ट्र दिवस पर 1 मई से 18 से 44 साल तक के लोगों के लिए कोरोनारोधी टीकाकरण शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह घोषणा की है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया के जरिए प्रदेश के जनता को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के पत्र के अनुसार राज्य को सीरम संस्थान और भारत बायोटेक से मई महीने में 18 लाख टीका उपलब्ध होगा। इसमें से राज्य को अभी तीन लाख टीका मिल चुका है। उन्होंने कहा कि तीन लाख टीके को जिलों में वितरित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1 मई से 18 से 44 साल टीकाकरण शुरू होगा। राज्य को जैसे-जैसे टीका उपलब्ध होगा वैसे-वैसे टीकाकरण को जारी रखा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण केंद्रों पर लोग भीड़ न करे। कोविन एप पर पंजीयन के बाद ही लोगों को टीका लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में 18 से 44 साल आयु वर्ग के लगभग 6 लाख लोग हैं। इसके लिए 12 लाख कोरोना का टीका खरीदने की सरकार की तैयारी है। यदि 12 करोड़ टीका एक साथ में कही से मिलेगा तो सरकार उसको एक चेक से भुगतान करके खरीदने के लिए तैयार है। लेकिन फिलहाल टीका उपलब्ध नहीं है। राज्य को जून और जुलाई से अधिक  टीका मिलने की उम्मीद है। 

बहुत कम बची हैे कोरोना वैक्सीन

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की महाराष्ट्र दिवस पर एक मई को 18 से 44 साल तक के लोगों के टीकाकरण का शुभारंभ करने की इच्छा है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सोशल मीडिया के जरिए टीकाकरण कार्यक्रम की औपचारिक घोषणा करेंगे। केंद्र सरकार ने भी एक मई से टीकाकरण शुरू करने को कहा है। पत्रकारों से बातचीत में टोपे ने कहा कि राज्य में संख्या में टीका बचा है।इसलिए प्रत्येक जिले में एक-एक टीकाकरण केंद्र शुरू करने का प्रयास है। मुख्यमंत्री भी चाहते हैं कि महाराष्ट्र दिवस पर टीका लगाने के कार्यक्रम शुरू हो जाए। इसके बाद उपलब्धता के अनुसार टीकाकरण कार्यक्रम चलता रहेगा। 

टोपे ने कहा कि सीरम संस्थान ने महाराष्ट्र कोमई महीने में लगभग 13 से 15 लाख कोविशिल्ड टीका उपलब्ध कराने के लिए सहमति दी है। जबकि भारत बायोटेक ने करीब 4 लाखकोवैक्सिन टीका उपलब्ध कराने की बात कही है। दोनों कंपनियां मिलाकर लगभग 18 लाख कोरोना का टीका उपलब्ध करा सकती हैं। राज्य कोयह टीका उपलब्ध होने के बाद पूरी क्षमता से टीकाकरण शुरू किया जा सकेगा। टोपे ने कहा कि राज्य में 45 साल से अधिक आयु वालों को टीका देने के लिए 4 हजार 200 टीकाकरण केंद्र शुरू किए गए हैं। इसमें सरकारी के अलावा निजी अस्पतालों का भी समावेश है। 

निजी अस्पतालों में रोकेंगे टीकाकरण 

यदि केंद्र सरकार नेनिजी अस्पतालों में टीकाकरण को रोकने के लिए कहा है तो निर्देशों का पालन किया जाएगा। टोपे ने कहा कि 45 साल से अधिक आयु वर्ग में जिन लोगों की कोरोना की दूसरी खुराक बाकी है। उन्हें टीके की दूसरी खुराक लेना अनिवार्य होगा। इसके लिए केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार निजी अथवा सरकारी अस्पतालों में व्यवस्था की जाएगी। टोपे ने कहा कि 18 से 44 साल की आयु वालों के लिए सीरम संस्थान और भारत बायोटेक कंपनी के कुल उत्पादन में से 50 प्रतिशत टीका केंद्र सरकार के पास जाएगा। जबकि 50 प्रतिशत टीका राज्यों और निजी अस्पतालों और औद्योगिक निजी अस्पतालों को दिया जाएगा। लेकिन निजी अस्पतालों की ओर से मांग अचानक बढ़ गई तो केंद्र सरकार क्या करेगी। इसके बारे में कोई स्पष्टता नहीं है। केंद्र सरकार को इसके लिए नियमावली बनानी पड़ सकती है। 

 

खबरें और भी हैं...