दैनिक भास्कर हिंदी: 14 मार्च को होगा विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव, कोरोना के चलते समय से पहले खत्म होगा सत्र

March 12th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधानसभा उपाध्यक्ष पद का चुनाव 14 मार्च को होगा। विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने गुरूवार को सदस्यों को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उपाध्यक्ष पद के लिए 13 मार्च यानी शुक्रवार को दोपहर 12 बजे के पहले नामांकन किए जा सकेंगे। इसी दिन 12 बजे के बाद इसकी छानबीन की जाएगी। उम्मीदवार शनिवार शाम चार बजे तक अपना नामांकन वापस ले सकेंगे। जरूरत पड़ने पर शाम साढ़े छह बजे से साढ़े आठ बजे के बीच विधानसभा के भीतर चुनाव की प्रक्रिया पूरी की जाएगी और विधानसभा की कार्यवाही चुनाव प्रक्रिया पूरी होने के बाद फिर शुरू होगी।     

शनिवार को खत्म हो जाएगा विधानमंडल सत्र

विधानमंडल का बजट सत्र शनिवार को खत्म कर दिया जाएगा। गुरूवार को विधानसभा में इससे जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने बुधवार को ही पत्रकारों से बातचीत में सत्र शनिवार तक ही चलाने को कहा था लेकिन इसके लिए दोनों सदनों की मंजूरी जरूरी थी। संसदीय कार्यमंत्री अनिल परब ने विधानसभा में प्रस्ताव पेश करते हुए बताया कि विधानसभा और विधानपरिषद कामकाज सलाहकार समिति की बैठक बुधवार शाम मुंबई में हुई जिसमें कामकाज शनिवार तक कामकाज खत्म करने पर सहमति बनी है। विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि संयुक्त गुट नेताओं की एक बैठक हुई जिसमें राज्य और देश की मौजूदा स्थिति को देखते हुए कामकाज जल्द समाप्त करने पर सहमति बनीं क्योंकि संसदीय कामकाज के चलते अधिकारी व्यस्त रहते हैं। लेकिन राज्य की जनता अहम है इसलिए यह फैसला किया गया है। भाजपा के सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि सरकार ने अधिवेशन खत्म करने का फैसला किया है लेकिन सोमवार से बैठकें शुरू होंगी जिसके चलते दूसरे जिलों के अधिकारी यहां आएंगे। यह दोहरी भूमिका आशंका पैदा करती है। सरकार का काम संदेह के घेरे में हो यह ठीक नहीं। जनता का हित सबसे पहले है लेकिन जो कारण दिया जा रहा है वह ठीक नहीं लग रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग दूसरे जिलों से अधिकारियों को बैठक में बुलाएं उन मंत्रियों को हटाने का फैसला किया जाए। अधिवेशन हमारा अधिकार है फिर हमारा अधिकार क्यों छीना जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को छोड़कर चंद्रपुर, भंडारा, गोंदिया, गडचिरोली, नागपुर के अधिकारियों को बैठक के लिए न बुलाए। पटोले ने कहा कि दोनों सदनों के विरोधी पक्ष के नेताओं ने भी इस पर सहमति जताई है। 

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग 

उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि हम कोशिश करेंगे कि अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ही मीटिंग की जाए। उन्होंने कहा कि हम भी अधिवेशन का समय कम नहीं करना चाहते थे लेकिन कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। विधायक अपने क्षेत्र में होंगे तो अधिकारियों पर नजर रख बेहतर काम करा सकेंगे। वीणा ट्रैवेल एजेंसी से जो सूचनाएं मिली उससे पता चला कि राज्य के करीब 1 हजार लोग बाहर हैं। वापस आने पर उनकी जांच करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि औरंगाबाद में भी विदेश से उड़ाने आतीं हैं लेकिन जांच की व्यवस्था नहीं है, इसकी कोशिश की जा रही है। पुणे में जांच के लिए छह घंटे लग रहे हैं। कई बड़े अस्पताल जांच की इजाजत मांग रहे हैं। इन सब वजहों से प्रशासन और अधिकारियों पर काम का दवाब है। कांग्रेस के पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि इटली में 102 भारतीय एयरपोर्ट पर फंसे हुए हैं इसमें दो महाराष्ट्र के हैं। उन्हें पता नहीं चल रहा किससे संपर्क किया जाए। चर्चा के बाद विधानसभा ने एकमत से कामकाज समिति का प्रस्ताव मंजूर कर लिया।  

खबरें और भी हैं...