दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर शहर में चल रहा पानी का गोरखधंधा, आरओ के नाम पर दिया जा रहा अशुद्ध पानी

June 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में आरओ पानी के नाम पर आम जनता को ठगा जा रहा है। मनपा ने इसकी अनुमति दी है, लेकिन उसे इसकी जानकारी तक नहीं है और न ही कभी मनपा ने पानी का नमूना लिया। स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की मांग महल स्थित टाउन हॉल में मनपा की आमसभा में की गई।

जगह-जगह गोरखधंधा
शहर में पानी का गोरखधंधा चल रहा है। 20 लीटर की केन के मनमाने रुपए वसूल किए जा रहे हैं। आरओ के नाम पर नागरिकों को अशुद्ध पानी दिया जा रहा है। इसकी जिम्मेदारी मनपा को लेनी चाहिए। यह आरोप विपक्ष नेता तानाजी वनवे ने लगाया। इस पर प्रशासन ने जवाब दिया कि जोन स्तर पर इसकी अनुमति दी जाती है, शहर में 137 जगह यह व्यवसाय चल रहा है, जिसमें 21 व्यापारियों ने पानी बेचने की अनुमति ली है। भाजपा के वरिष्ठ नगरसेवक दयाशंकर तिवारी ने पूछा कि यदि पानी शुद्ध नहीं है तो क्या इस मामले में कार्रवाई करने का अधिकार मनपा के पास है? क्योंकि फूड एंड ड्रग विभाग इस पर कार्रवाई करता है। इस पर अधिकारियों ने बताया कि दस्तावेजों से संबंधित कार्रवाई का अधिकार मनपा को है, लेकिन कार्रवाई फूड एंड ड्रग विभाग करता है। चर्चा में पूर्व महापौर प्रवीण दटके, मनोज सांगोले, प्रफुल्ल गुड़धे आदि शामिल हुए।

वॉटर एटीएम पर बवाल
प्रफुल्ल गुड़धे ने कहा कि नागरिकों को कम कीमत पर शुद्ध पानी देने के नाम पर जगह-जगह वॉटर एटीएम लगाए गए हैं। एक वॉटर एटीएम केडीके कॉलेज चौक पर लगाया गया है, लेकिन उसकी कीमत किसने तय की। वॉटर एटीएम कार्ड बांटे गए हैं, लेकिन जिनके पास कार्ड नहीं है, उनको कार्ड पानी दिया जाएगा। मामले में प्रशासन के पास वॉटर एटीएम की जानकारी नहीं थी, लेकिन मजे की बात तो यह है कि यह वॉटर एटीएम किसने लगाए यह भी किसी को जानकारी नहीं है। इस पर विषय को स्थगित कर अगली सभा में जानकारी के साथ रखने के निर्देश महापौर ने दिए।
 

खबरें और भी हैं...