comScore

नागपुर में 346 टैंकर से की जा रही है जलापूर्ति ,  बंद होंगे 120 टैंकर

नागपुर में 346 टैंकर से की जा रही है जलापूर्ति ,  बंद होंगे 120 टैंकर

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर शहर में जलापूर्ति करने वाले 346 टैंकर्स में से 120 को बंद करने का महत्वपूर्ण निर्णय महानगरपालिका ने लिया है। इस निर्णय से मनपा की जलापूर्ति पर खर्च होने वाले लाखों की बचत होगी। शहर में पाइपलाइन नेटवर्क नहीं होने वाले क्षेत्रों में जलापूर्ति करने के लिए टैंकर्स की व्यवस्था की गई है। मनपा द्वारा फिलहाल 346 टैंकरों से जलापूर्ति की जा रही थी। इन टैंकरों पर हर साल 28 करोड़ रुपए खर्च होते हैं। 120 टैंकर्स बंद किए जाने से हर साल लगभग 10-11 करोड़ रुपए की बचत होगी। शहर को टैंकरमुक्त करने की दिशा में मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे की इस पहल को एक बड़ा कदम माना जा रहा है।

और 100 टैंकर कम होंगे
120 टैंकर बंद करने के बाद जल्द ही और 100 टैंकरों को बंद करने की तैयारी है। नासुप्र द्वारा वांजरा में बनाई गई पानी की टंकी चार्ज होने पर कामठी मार्ग पर उप्पलवाड़ी, शिवनगर, धम्मदीपनगर, डायमंडनगर, हस्तिनापुर, बंधु सोसायटी, भीमवाड़ी आदि क्षेत्रों में नागरिकों को नल कनेक्शन देने पर क्षेत्र में टैंकर की 60 से 70 फेरियां कम होंगी। इसके अलावा नासुप्र द्वारा नारा व कलमना क्षेत्र में पानी की टंकी का निर्माण कार्य पूरा होने के करीब है। आगामी दो महीने में दोनों क्षेत्रों में टंकी मनपा को हस्तांतरित होना अपेक्षित है। 

राज ठाकरे की नई पहल, अवैध पाकिस्तानी-बांग्लादेशी घुसपैठियों की जानकारी देने पर देंगे इनाम

इस क्षेत्र में अमृत योजना अंतर्गत पाइपलाइन डालने का काम हाथ में लिया गया है। यह टंकियां चार्ज होने के बाद नारा कमांड एरिया अंतर्गत समतानगर, पांजरा स्थित टैंकर की रोजाना 70 से 80 फेरियां कम होगी। इसके अलावा नासुप्र द्वारा निर्मित कलमना टंकी चार्ज होने पर राजलक्ष्मीनगर, पार्वतीनगर, देवीनगर, गुलशननगर, राजीव गांधी नगर, कलमना क्षेत्र में टैंकर द्वारा जलापूर्ति बंद की जाएगी। जिसकारण रोजाना की 180 फेरियां कम होगी। अमृत योजना अंतर्गत लकड़गंज जोन अंतर्गत शुरू की गई पाइपलाइन का काम पूरा होने पर प्रति दिन की 450 फेरियां कम होगी। उपरोक्त सभी टैंकर की फेरियां कम होने पर आगामी समय में 100 टैंकर की संख्या कम होगी। 

शहर में पाइपलाइन नेटवर्क 
शासकीय निधि, अमृत योजना, विशेष निधि व नागपुर सुधार प्रन्यास (नसुप्र) द्वारा कई स्थानों पर पाइपलाइन का नेटवर्क बिछाया गया था। मनपा द्वारा इन पाइपलाइनों को चार्ज कर नल कनेक्शन दिए गए हैं। नासुप्र द्वारा डाली गई पाइपलाइन में से लक्ष्मीनगर, धरमपेठ, हनुमाननगर, नेहरूनगर, सतरंजीपुरा, लकड़गंज, आशीनगर व मंगलवारी जोन अंतर्गत 955 ले-आउट में से 876 ले-आउट मनपा द्वारा चार्ज कर लगभग 17 हजार नल कनेक्शन दिए जा चुके हैं। इस कारण इन क्षेत्रों में टैंकर की मांग घटी है। ऐसे कई अन्य क्षेत्रों में भी व्यवस्था बनाने की योजना है।

पिछले साल बनी थीं टंकियां
पिछले वर्ष नागपुर शहर को जोड़े गए हुड़केश्वर-नरसाला क्षेत्र में शासकीय निधि से पानी टंकियां बनाई गई हैंै। इस क्षेत्र में पाइपलाइन चार्ज कर लगभग 8840 नल कनेक्शन दिए गए हैं। हुड़केश्वर नरसाला क्षेत्र में 76 टैंकर द्वारा रोजाना 530 फेरियां पूरी की जा रही थीं। पाइपलाइन चार्ज होने से 90 प्रतिशत क्षेत्र टैंकरमुक्त हुआ है। मार्च 2020 अंत तक संपूर्ण हुड़केश्वर नरसाला को टैंकर मुक्त करने की मनपा की योजना है।

कमेंट करें
atg4F