पितृपक्ष प्रारंभ: 15 दिन तक लगातार पवित्र जलाशयों में जाकर दिया जाएगा पुरखों को जल 

September 20th, 2021

डिजिटल डेस्क जबलपुर । आज सोमवार, 20 सितंबर से पितृ पक्ष प्रारंभ हो गया है । आज सैकड़ों लोगों ने यहां नर्मदा तट ग्वारीघाट पर स्नान कर इस कार्य की शुरूआत की । हंदू धर्म में पितृ पक्ष जिसे श्राद्ध भी कहा जाता है विशेष महत्व होता है। पंचांग के अनुसार भाद्रपद पूर्णिमा तिथि से लेकर अश्विन माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि तक पितृ पक्ष चलता है। पितृ पक्ष में यमलोक से सभी पितर पृथ्वी पर जीवित अपने सगे संबंधियों से तृप्ति के लिए धरती पर आते हैं। पितृ पक्ष के दौरान पितरों का पिंडदान, तर्पण और श्राद्ध कर्म आदि किए जाते हैं। शास्त्रों में बताया गया है कि पितरों का ऋण श्राद्ध कर्म के द्वारा ही चुकाया जा सकता है। पितृपक्ष में श्राद्ध करने से पितृगण प्रसन्न रहते हैं। पितृपक्ष में पवित्र नदियों में बड़ी संख्या में श्राद्ध कर्म किये जाते हैं।

खबरें और भी हैं...