comScore

दिन में शांत रात में बरस रहे मेघ, विदर्भ में भारी बारिश की चेतावनी

July 03rd, 2019 12:29 IST
दिन में शांत रात में बरस रहे मेघ, विदर्भ में भारी बारिश की चेतावनी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मौसम विभाग ने अगले 2 दिन विदर्भ के कुछ स्थानों पर भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। अकोला, अमरावती चंद्रपुर, वाशिम तथा यवतमाल के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। बुलढाणा के लिए आरेंज अलर्ट है। नागपुर सहित विदर्भ के अन्य जिलों में सावधान रहने को कहा गया है। यहां कहीं-कहीं भारी वर्षा की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार, कम दबाव का क्षेत्र खिसक कर अब झारखंड, छत्तीसगढ़ और ओड़िशा के ऊपर बना हुआ है। इससे जुड़ा चक्रवाती चक्र ऊपरी मुहाने से दक्षिण की ओर झुका हुआ है। एक द्रोणिका पंजाब से बंगाल की खाड़ी तक खिंची हुई, जो हरियाणा, उत्तर प्रदेश व कम दबाव के क्षेत्र के बीच से गुजर रही है। साथ ही एक चक्रवाती चक्र द्रोणिका के ऊपर बना हुआ है। इससे नमी का तेजी से खिंचाव हो रहा है। 

रात में हो रही अच्छी बारिश 

सोमवार और मंगलवार दिन में शांत बने रहे बादल आधी रात के बाद खूब तड़के और बरसे। सोमवार को रात करीब 1.30 बजे तेज हवा व बिजली की कड़कड़ाहट के साथ अचानक मूसलाधार बारिश शुरू हुई, जो करीब आधे घंटे एक सार बरसती रही। इस बीच तेज हवा और बिजली की गर्जना ने लोगों को दहला दिया। रात 2 बजे के बाद इसमें कुछ कमी आई। सुबह करीब 6 बजे तक धीमी रफ्तार से बौछारें आती रहीं। मंगलवार को भी आधी रात को अच्छी बारिश हुई। 

केंद्र नागपुर पर ही था 

मौसम विभाग के अनुसार, मंगलवार सुबह 8.30 बजे तक 27.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई। मौसम जानकारों के अनुसार, यह घरेलू बादलों (क्यूम्यलोनिम्बस बादल) की देन थी, जो रात बिजली की कड़क के साथ बरसे। उनके अनुसार, यह बादल स्थानीय स्तर पर ही बनता है और नमी के बढ़ने के बाद तेजी से बरसता है। इसका केंद्र नागपुर पर ही था, इसी के चलते मूसलाधार बारिश ने शहर को सराबोर कर दिया। इस बादल की लंबई 40 से 50 किमी तक और मोटाई कई बार 16 किमी तक पहुंच जाती है। 

ऐसा है तापमान

रात आई झमाझम बारिश और सुबह से ही मेघों के आच्छादित रहने से रात और दिन के तापमान में तीव्र गिरावट आई। दिन में भी कई बाद हल्की बौछारों और बूंदाबांदी ने मौसम सुहाना किया।  दिन का पारा सामान्य से 4 तथा रात का 5 डिग्री नीचे आ गया। इससे लोगों को राहत मिली। हालांकि दोपहर बाद उमस की परेशानी बढ़ी। मौसम विभाग के अनुसार, अधिकतम तापमान 29.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री नीचे रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री नीचे 20.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। सुबह से बढ़ी हुई आर्द्रता में शाम आते आते कुछ कमी दर्ज की गई। आर्द्रता सुबह 98 तथा शाम को 79 प्रतिशत रिकार्ड हुई, जो शाम 7.30 बजे बढ़कर फिर 99 प्रतिशत हो गई। 

पिछले 5 साल में सबसे कम वर्षा दर्ज 

मानसून सत्र की शुरुआत 1 जून से होती है। पिछले 5 वर्षों में शहर में जून माह में हुई वर्षा का रिकार्ड देखें तो इस वर्ष जून माह करीब करीब सूखा ही बीता है। माह के अंतिम दिन हुई 26.2 मिमी वर्षा ने कुछ लाज रख ली, नहीं तो 27 जून तक पूरे माह में मात्र 34.9 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। रिकार्ड देखें तो 2014 में जून माह में 92.3 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। 2015 में 277.2 मिमी, 2016 में 132.3 मिमी, 2017 में 140.3 मिमी तथा 2018 में 242 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। इस वर्ष जून माह में केवल 61.1 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई है।

कमेंट करें
EtmXd