comScore

पश्चिम मध्य रेल प्रशासन चला सकता है पाँच स्पेशल गाडिय़ाँ

पश्चिम मध्य रेल प्रशासन चला सकता है पाँच स्पेशल गाडिय़ाँ

जबलपुर-पुणे, अटारी, तिरुनेलवेली, हरिद्वार और बांद्रा जाने वाले यात्रियों को मिल सकती है राहत
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
रेलवे बोर्ड ने भले ही 12 अगस्त तक सभी रेग्युलर गाडिय़ों को चलाने पर रोक लगा दी हो, लेकिन स्पेशल और मेल गाडिय़ों के संचालन की अनुमति दी गई है, इसलिए पश्चिम मध्य रेल प्रशासन ने नए विकल्प में अवसर तलाशने शुरू कर दिए हैं। कहा जा रहा है िक रेल प्रशासन जबलपुर से चलने वाली 5 स्पेशल गाडिय़ों जबलपुर-पुणे, जबलपुर-अटारी, जबलपुर-तिरुनेलवेली, जबलपुर-हरिद्वार और जबलपुर-बांद्रा को चलाने का मन बना रहा है, जिसके लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजने की तैयारी की जा रही है।
रेल जोन के पास हैं स्पेशल ट्रेनों को चलाने के अधिकार

रेलवे बोर्ड के नियमों के अनुसार स्पेशल गाडिय़ों को चलाने का अधिकार रेल जोन के पास होता है और अगर जोन के जीएम चाहें तो स्पेशल ट्रेनों का संचालन यात्रियों की माँग पर कर सकते हैं। वैसे भी जबलपुर से पुणे, बांद्रा, तिरुनेलवेली, हरिद्वार और अटारी जाने वाले यात्रियों की संख्या साल भर बनी रहती है। अब जब रेलवे बोर्ड ने किन्हीं कारणों से 12 अगस्त तक रेग्युलर चलने वाली गाडिय़ों के संचालन पर रोक लगा दी है तो पमरे प्रशासन स्पेशल गाडिय़ों के विकल्प को खोलकर जबलपुर और आसपास के यात्रियों को राहत देने के लिए पहल कर सकता है, जिसकी उम्मीद सैकड़ों यात्री रेल प्रशासन से लगाए बैठे हैं। 
यात्रियों की माँग और संख्या को बनाया जाएगा आधार - रेलवे के सूत्रों का कहना है िक स्पेशल  मेल और एक्सप्रेस गाडिय़ों को चलाने का रास्ता खुला रहने पर पमरे प्रशासन यात्रियों की माँग और संख्या को आधार बनाकर रेलवे बोर्ड को जानकारियाँ भेजने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में उन स्थानों के लिए स्पेशल  मेल और एक्सप्रेस गाडिय़ों को चलाने की अनुमति रेलवे बोर्ड से मिल सकती है, जहाँ जाने वाले यात्रियों की संख्या सैकड़ों में है।

कमेंट करें
MIAkB