खामगांव: एक दिन के विश्राम के बाद शेगांव की ओर करेगी प्रस्थान

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, खामगांव. महाराष्ट्र के आराध्य दैवत  होनेवाले पंढरपुर यहां आषाढ़ी एकादशी वारी के लिए गए श्री संत गजानन महाराज संस्थान के पैदल दिंडी एवं पालकी का खामगांव यहां २ अगस्त को नागपंचमी के दिन  आगमन हो रहा हैं। कोरोना के प्रादुर्भाव कारण विगत दो साल श्री की पालकी पंढरपुर को नहीं गई थी, लेकिन इस साल पंढरपुर को गई हैं, वापिस के सफर पर होनेवाले श्री के पालकी का शहर में आगमन होने वाला होकर श्री के भक्तों में खुशी का वातावरण नजर आ रहा है। शहर में पालकी आने के बाद शहर के विविध संगठन, संस्था, नागरिकों व्दारा श्री के पालकी का भव्य दिव्य ऐसा स्वागत किया जाता हैं। पालकी के स्वागत के लिए शहर में जगह जगह स्वागत के बोर्ड लगाए जाते हैं, पालकी में शामिल वारकरियों को केली, सुकामेवा, चाए, पानी पाऊच का वितरण किया जाता हैं। पालकी का शहर में आगमन होने  के बाद उस  दिन शहर में वातावरण भक्तिमय होता है, श्री की पालकी का दि २ अगस्त को शहर में आगमन होगा, उस दिन पालकी का खामगांव  मुक्कम रहेगा, तो दूसरे दिन ३ अगस्त को पालकी सुबह पांच बजे शेगांव की ओर प्रस्थान करेगी। श्री संत गजानन महाराज संस्थान की पालकी श्री क्षेत्र पंढरपुर से १३ जुलाई को शेगांव की और प्रस्थान किया हैं, यह पालकी करकंब, भगवान  बार्शी, बीड, गेवराई, जालना, सिंदखेडराजा, लोणार,  मेहकर,  जानेफल, आवार इस मार्ग  से खामगांव मार्ग से करीबन ५५० कि मी सफर कर खामगांव पहुंचेगी, इस पालकी के  स्वागत के लिए खामगांव शहर में  सभी और तैयारी कि जा रही हैं।