दूसरे राज्यों से भी जुड़े तार: एटीएमकार्ड का बनाते थे क्लोन, पैसे उड़ानेवाले 2 धराए

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, यवतमाल। बीते कुछ दिनों में शहर में ऑनलाईन ठगी समेंत एटीएम मशिन पर कार्ड की क्लोनिंग कर पैसे उड़ाने की कई शिकायते जिला पुलिस दल को प्राप्त हुई थी। जिसकी जांच स्थानिय अपराध शाखा के साथ सायबर सेल कर रहा था। जांच में सायबर सेल को बड़ी सफलता हाथ लगी है। एटीएम कार्ड क्लोनिंग कर पैसे उड़ानेवाले 2 लोगों को मामले में गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से एटीएम कार्ड का क्लोन बनाने में इस्तेमाल इलेक्ट्रॉनिक सामग्री समेंत 1 लाख 28 हजार 450 रुपये नगद जब्त किए गए है। आरोपियों की पहंचान बिहार के गया जिले का निवासी सुरेशकुमार अनिल सिंग व सुधीरकुमार निर्मल पांडे के तौर पर हुई है। दोनो को आज सोमवार को बिहार से गिरफ्तार करके लाया गया और उन्हंे अवधुतवाडी पुलिस को सौंप दिया गया है। आरोपियों ने महाराष्ट्र समेंत उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड इन राज्यों में इसी प्रकार नागरिकों के खाते से रक्कम उड़ाने की बात जांच दल को पता चली है। शहर में 15 सितंबर को आर्णी नाका परिसर में स्थित सत्यसाई ज्योत मंगल कार्यालय के पास एक एटीएम मशिन तो 16 सितंबर को अॅग्लो हिन्दी हायस्कुल के पास स्थित एसबीआई के एटीएम मशिन को इटर्नल क्लोनर डिवाईस लगाकर ग्राहकों के एटीएम कार्ड की जानकारी जुटाई जाती थी। जिसके बाद बैंक खाते से ऑनलाईन पैसे उड़ा लिए जाते थे। सायबर सेल ने इस मामले की तकनीकी जांच कर दल आरोपियों तक पहुचा था। उनके गिरफ्तारी से हायटेक तरीके से पैसे उड़ाने के मामले का पर्दाफास हुआ है। यह कार्रवाई जिला पुलिस अधीक्षक डा दिलीप भुजबल के मार्गदर्शन में सायबर सेल के एपीआई अमोल पुरी, गजानन डोंगरे, विशाल भगत, कविश पालेकर, उल्हास कुरकुटे, अजय निंबोलकर, पंकज गिरी, सतिश सोनोने, रोशनी जोगलेकर, प्रगती कांबले ने की ।