comScore

यवतमाल में शराबबंदी लागू कराने के लिए PM को किया ट्वीट, जानिए क्या कह रहीं हैं महिलाएं

June 27th, 2018 18:02 IST
यवतमाल में शराबबंदी लागू कराने के लिए PM को किया ट्वीट, जानिए क्या कह रहीं हैं महिलाएं

डिजिटल डेस्क, यवतमाल। जिले को शराबबंदी करने की बरसों पुरानी मांग पूरी होती न देख स्वामिनी संगठन ने आखिरकार सोशल मीडिया का सहारा लिया है। जिले में शराबबंदी कराने की मांग स्वामिनी संगठन के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ट्वीट कर की। जिलाधिकारी कार्यालय में स्वामिनी संगठन के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री मोदी को ट्वीट कर आरोप लगाया कि शराबबंदी के प्रति राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस गंभीर नहीं है।

पदाधिकारियों ने रखी अपनी-अपनी बात
इसके पूर्व  जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंप कर शराबबंदी करने मांग की गई। इसके बाद संगठन से मुख्यसंयोजक महेश पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर कहा कि आपने युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी, लेकिन रोजगार न मिलने के कारण युवक शराब की लत में डूबते जा रहे हैं। उपसंयोजक मनीषा काटे ने कहा कि शराब का धंधा सबसे गंदा है।

कोमल जाचक ने कहा कि आप मन की बात करते हो, लेकिन हमारे मन की बात कौन सुनेगा। सीएम देवेंद्र फडणवीस जिले में शराबबंदी करने की मांग को गत 4 वर्ष  से अनदेखा कर रहे हैं। यवतमाल जिला कपास का जिले के नाम से जाना जाता था, लेकिन अब यवतमाल जिले को किसान आत्महत्या के रूप में हुई है।

जिले के युवा नशे के आदी हो रहे हैं। शराब के सेवन से महिलाओं पर परिवारिक अत्याचार बढ़ रहे हैं। स्वामिनी संगठन ने 28 अप्रैल 2015  को जिले में शराब बंदी के लिए आंदोलन शरू किया था। बीते 4 वर्ष से शराबबंदी के लिए आंदोलन शुरू है। हजारों महिलाएं व युवक सड़क पर उतरकर शराबबंदी की मांग कर आंदोलन किए, लेकिन अब तक कोई ठोस हल नहीं निकाला जा सका। शराबबंदी के लिए मुख्यमंत्री से काई हल निकालने की मांग संगठन ने ज्ञापन में की है। इस समय प्रमख रूप से मुख्य संयोजन महेश पवार, मनीषा काटे, अनंतराव कटकोजवार, रवि कांबले, शेखर सरकटे, रीतु ठवकर, रीना धावडे, मयूरी कदम, प्रकाश धोटेकर आदि उपस्थित थे।  

कमेंट करें
6LHwK