दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र में अभी से शुरु हो सकता है दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार कंपनी का काम

March 10th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विश्व की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार उत्पादक कंपनी टेस्ला का उत्पादन राज्य में हो इसके लिए अब भी प्रयास किए जा रहे हैं। कर्नाटक में कंपनी ने शोरूम और कार्यालय शुरू किया है। कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि जिस कार की बिक्री ज्यादा होगी उसका भारत में उत्पादन शुरू किया जाएगा। अभी कर्नाटक में कोई उत्पादन यूनिट शुरू नहीं किया गया है। कंपनी के अधिकारियों ने राज्य की औद्योगिक नीति का तारीफ की है। इसलिए डरने की जरूरत नहीं है, टेस्ला परियोजना कहीं नहीं गई।

प्रश्नकाल के दौरान विधानसभा में उद्योगमंत्री सुभाष देसाई ने यह जानकारी दी। शिवसेना के सदा सरवणकर, राकांपा के अनिल पाटील, नितिन पवार, भाजपा के अतुल भातखलकर आदि सदस्यों ने राज्य में उद्योंगों को दी जाने वाली बुनियादी सुविधाओं से जुड़ा सवाल पूछा था। जवाब में मंत्री देसाई ने बताया कि कहा कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम (एमएसएमई) उद्योग को बढ़ावा देने की नीति महाराष्ट्र सरकार की है। औद्योगिक क्षेत्रों में लघु उद्योगों के लिए एक अलग भूखंड रखा गया है। उनके लिए प्लॅग एंड प्ले नीति बनाई गई है, जिसके तहत गाले तैयार कर दिए जाते हैं। 

नागपुर में कब लगेगा बाबा रामदेव का उद्योगः नाना पटोले 

कांग्रेस विधायक नाना पटोले ने सवाल उठाया कि नागपुर में बाबा रामदेव और अनिल अंबानी को जमीन दी गई है, लेकिन उन्होंने उद्योग नहीं लगाया। पटोले ने कहा कि नागपुर के मिहान में पंतंजलि को नाममात्र दर पर जमीन दी गई थी। लेकिन उस जमीन पर आज तक कोई उद्योग शुरु नहीं हो सका। इस पर उद्योग मंत्री ने कहा कि इसकी विस्तारपूर्वक जानकारी लेकर जवाब देंगे।  

1722 फर्जी खाते दिखा कर बैंक ने हड़पे 2 करोड़ 35 लाख 

बुलढाणा के चिखली में स्थित अनुराधा नागरी सहकारी बैंक ने किसानों को सिर्फ 8 लाख 54 हजार रुपए कर्ज दिए लेकिन 1722 फर्जी खाते दिखाकर उसने केंद्र और राज्य सरकार से 2 करोड़ 35 लाख रुपए की रकम हासिल कर ली। जांच समिति की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। प्रश्नकाल के दौरान विधानसभा में पूछे गए सवाल के जवाब में सहकारिता मंत्री शामराव उर्फ बालासाहेब पाटील ने यह जानकारी दी। भाजपा की श्वेता महाले, देवेंद्र फडणवीस आदि सदस्यों के सवाल के जवाब में मंत्री पाटील ने बताया कि इस मामले में जांच के लिए एक और समिति गठित की गई है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। मंत्री के जवाब से असंतुष्ट विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी की। 

उमरेड-पवनी-करांडला अभ्यारण्य में जहर से हुई 6 बाघों की मौत  

साल 2018 से 2020 के बीच उमरेड-पवनी-करांडला अभ्यारण्य में 3 प्रौढ़ और 3 बाघ के बच्चों की मौत जहर के चलते हुई है। इसके अलावा तीन वाघ आपसी लड़ाई में मारे गए हैं। विधानसभा में पूछे गए सवाल के लिखित जवाब में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह जानकारी दी। भाजपा के चंद्रकांत पाटील, योगेश सागर, राजेंद्र पाटणी आदि सदस्यों के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि वाघों के संरक्षण के लिए राष्ट्रीय वाघ संवर्धन प्रतिष्ठान के निर्देश के मुताबिक जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। 

खबरें और भी हैं...