दैनिक भास्कर हिंदी: Crime : मामूली विवाद में युवक की हत्या, दुबई में रहती है मृतक की मां

January 31st, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कलमना थानांतर्गत युवा मजदूर की हत्या कर दी गई। प्रकरण को मामूली विवाद के चलते एक युवक ने अंजाम दिया। युवक को गिरफ्तार कर शुक्रवार को अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे रिमांड पर भेज दिया है। मृत मजदूर करण अशोक मेश्राम (26), गणेश नगर कटरे ले-आउट, कलमना निवासी था। आरोपी कलमना क्षेत्र में भवानी नगर में रहने वाला फैजान परवेज मैसूरी (18) है। गुरुवार की शाम करीब साढ़े चार बजे जूना कामठी रोड स्थित पोटे रेस्टाेरेंट के सामने से करण कहीं पैदल जा रहा था। रास्ते में फैजान अपना दोपहिया वाहन लेकर करण के पास लेकर पहुंचा और धीरे-धीरे चलाने लगा। करण ने उसे पास से वाहन चलाने पर टोका और उसे फटकार लगाई। इससे दोनों में विवाद हो गया। दोनों में मारपीट हो हुई। करण को भारी पड़ता देख फैजान ने चाकू निकाल लिया  और करण के पैर पर वार किया। वार इतना गहरा था कि, करण के पैर नस कट गई और अत्यधिक मात्रा में रक्तस्त्राव हुआ। इस बीच किसी ने पुलिस को फोन कर खबर दी। जख्मी करण को मेयो अस्पताल ले जाया गया, जहां पर उपचार के दौरान रात 1 बजे उसकी मौत हो गई। करण मजदूरी करता था। उसकी मां दुबई में घरेलू नौकरानी है। भाई और बहन दिल्ली में रहते हैं। करण की शादी भी हो गई थी, लेकिन कुछ दिन बाद पत्नी उसे छोड़कर चली गई। आरोपी फैजान भी मजदूरी करता है। इसके पहले भी एक अपराधिक प्रकरण उसके खिलाफ दर्ज है। पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज किया। जांच में पुलिस को गुप्त जानकारी मिली कि, फैजान ने ही करण को मौत के घाट उतारा है। पुलिस ने फैजान को रात में ही धरदबोचा। शुक्रवार को  अदालत में पेश किया गया। अदालत ने फैजान को 1 फरवरी तक रिमांड पर भेज दिया है। वरिष्ठ निरीक्षक चव्हाण मामले की जांच कर रहे हैं। 

12.50 हजार की अवैध देसी शराब जब्त

उधर कपिल नगर पुलिस ने गश्त के दौरान एक आरोपी को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से करीब साढ़े बारह हजार रुपए की अवैध देसी शराब जब्त की। आरोपी का नाम शिवप्रसाद भंते अानंद, कौशल्या नगर, पीली नदी निवासी है। पुलिस फरार आरोपी रमेश यादव और  एस.बी. भोसकर की तलाश कर रही है। कपिल नगर थाने में मामला दर्ज किया गया है। अपराध शाखा पुलिस की यूनिट-5  ने कार्रवाई की। पुलिस के अनुसार 30 जनवरी को सहायक पुलिस निरीक्षक अनिल मेश्राम गश्त के दौरान सूचना मिली कि, पीली नदी के पास कामठी रोड में शिवप्रसाद नामक व्यक्ति ने देसी शराब का भंडारण कर रखा है। पुलिस ने शिवप्रसाद का घर खोज निकाला। वह एक झोपड़ी में देसी शराब बेच रहा था। तलाशी लेने पर झोपड़ी में के.एस.के डिस्टलरी कोलपेवाड़ी, जिला अहमद नगर (महाराष्ट्र) की देसी शराब के 5 बॉक्स में 240 बोतलें मिलीं। इसकी कीमत करीब साढे 12 हजार रुपए है। पूछताछ में आरोपी शिवप्रसाद ने बताया कि, यह माल रमेश यादव नामक व्यक्ति का है।  नाका नं.-2, भिलगांव, चिल्लर देसी दारू की दुकान से लाया था। यह दुकान एस.बी. भोसकर की है। पुलिस ने आरोपी शिवप्रसाद के खिलाफ धारा 65(ई) मुबई शराब प्रतिबंध कानून के तहत मामला दर्ज किया। देसी शराब पहुंचाने वाले आरोपी रमेश यादव और शराब दुकान के मालिक भोसकर पर धारा 79, 80, 81, 65 (ई), 79, 80, 81 के तहत मामला दर्ज किया गया है। देसी शराब कपिल नगर पुलिस के हवाले कर दी गई। 

दो कंटेनरों में मिले 118 मवेशी, दो मृत

ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस के दस्ते ने दो कंटेनरों से 118 मवेशियों को छुड़ाया। इसमें दो मवेशी  मृत मिले। दोनों कंटेनरों में 59- 59 मवेशी लादे गए थे। पुलिस ने इस मामले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे करीब 19 लाख के मवेशी व दो कंटेनर ट्रक सहित करीब 50 लाख 60 हजार रुपए का माल जब्त किया है। सभी आरोपी मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश के : गिरफ्तार आरोपियों के नाम  इलियास जमालुद्दीन  साहीबाबा, सिटी जिला गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश, अफजल खान अनवर,  लक्ष्मी नारायण नगर, बेरसिया भोपाल (म.प्र.), वसीम खान शहीद खान ग्राम भेरासा, बेरसिया  भोपाल  (म.प्र.), शकील अब्दुल रहमान कुरेशी, हवेली मोहगांव, सौंसर  (म.प्र.), मोबिद खान खलीद खान कोरबाई, जिला विदिशा (म.प्र.), जाहिद उर्फ शाहरुख, दलोरा,  मंदसौर (म.प्र.), चांद मोहम्म्द शकूर खां, इंदिरा काॅलोनी झोपड़पट्टी,  मंदसौर (म.प्र.), नदीम, मुरादाबाद, उत्तरप्रदेश और आरिफ सोडा, मुलतानपुर, मंदसौर (म.प्र.) निवासी  है। इन सभी पर केलवद थाने में मामला दर्ज किया गया है।

सवारी वाहन में चंद्रपुर के दुकानदार के 3 लाख चोरी

वहीं इतवारी में खरीदारी करने आए चंद्रपुर के एक किराना दुकानदार  के 3 लाख रुपए सवारी वाहन में सफर के दौरान चोरी हो गए। दुकानदार अनिल माधवदास डेंगाणे  को यह तब पता चला जब उसने माल की खरीदने के बाद बैग को खंगाला। घटना 29 जनवरी को हुई। पुलिस के अनुसार महात्मा फुुले चौक, तिरुपति नगर, चंद्रपुुर  निवासी  अनिल डेंगाणे (49) की चंद्रपुर में किराना दुकान है। वह नागपुर के इतवारी के किराना ओली, शहीद चौक में सौरभ ट्रेडर्स में किराना माल लेने चंद्रपुर से आए थे। माल खरीदने के बाद जब उन्होंने बैग खोला तो उनके होश उड़ गए। बैग में रखे नकद 3,08,000 रुपए गायब थे। उन्होंने तहसील थाने में शिकायत की। उन्होंने पुलिस को बताया कि, गणेशपेठ बस स्टैंड पर उतरने के बाद वे मैक्सी रिक्शा  में इतवारी के लिए रवाना हुए। रिक्शा में लाल इमली चौक तक 30 से 35 व 50 से 52 वर्ष की दो  अज्ञात महिलाएं सवार हुईं थीं। उन्हें शक है कि, इन महिलाओं ने ही उनके बैग से तीन लाख रुपए चुराए हैं। तहसील पुलिस ने अनिल की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। 

30 साल से फरार आरोपी पकड़ा गया

तीस साल से फरार एक आरोपी को पुलिस ने धरदबोचा और शनिवार को उसे अवकाशकालीन अदालत में पेश कर उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी सीताराम शर्मा, बंसी नगर, हिंगना रोड निवासी है। वर्ष 1991 में उसके खिलाफ एमआईडीसी थाने में आपराधिक मामला दर्ज हुआ था। उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा गया, लेकिन जमानत पर छूटने के बाद वह कभी अदालत में पेशी पर नहीं पहुंचा। अदालत ने सीताराम को भगौड़ा घोषित कर उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। जांच-पड़ताल के दौरान पुलिस को पता चला कि, सीताराम अपना ठिकाना बदलकर कालमेघ नगर में छुपकर रह रहा है। शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात पुलिस ने सीताराम के ठिकाने पर दबिश दी और उसे गिरफ्तार किया।