दैनिक भास्कर हिंदी: सुशांत सिंह मामले से जुड़े हैं एक युवा मंत्री के तार ! ईडी ने दर्ज किया मामला - फडणवीस ने की थी मांग

July 31st, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी मामला दर्ज किया है। ईडी ने यह एफआईआर सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा पटना में दर्ज एफआईआर के आधार पर दर्ज की है। सिंह ने सुशांत के बैंक खातों में हेराफेरी का आरोप लगाया है। इसके पहले पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को धनशोधन के पहलू से जांच के लिए प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईर) दर्ज करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मामले की जांच को सीबीआई को सौंपने को लेकर “विशाल जन भावना” है लेकिन राज्य की उद्धव ठाकरे नीत महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार ऐसा नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, “सुशांत सिंह राजपूत मामले में लोगों के मन में बहुत भावनाएं है। उनको लगता है कि कुछ छिपाया जा रहा है, नये खुलासे हुए हैं। इसलिए,लोग इसमें सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।” फडणवीस ने कहा, “लेकिन राज्य सरकार मामले में सीबीआई जांच से इनकार कर रही है।” विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने एक वीडियो संदेश में कहा कि मामले में सीबीआई जांच की मांग जनता कर रही है न कि भाजपा। उन्होंने कहा-अब धनशोधन का पहलू भी सामने आ गया है। यह पाया गया कि उनके खाते से पैसों की हेराफेरी हुई है। ऐसे मामले में, ईडी का भी अधिकार क्षेत्र बनता है, इसलिए मैंने मांग की है कि ईडी को ईसीआईआर दर्ज कर मामले की जांच करनी चाहिए। इस बीच फिल्म अभिनेता शेखर सुमन ने राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिल कर सुशांत मौत मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। 

भाजपा विधायक ने गृहमंत्री को लिखा पत्र

भारतीय जनता पार्टी विधायक अतुल भातखलकर ने भी अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। यह मांग करते हुए उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र भी लिखा है। पत्र में भातखलकर ने लिखा है कि इस तरह की अफवाह है कि मुंबई में रहने वाले महाराष्ट्र सरकार के एक युवा मंत्री के हित उस मामले से जुड़े ही सकते हैं। इसीलिए लोगों को संदेह है कि मुंबई पुलिस इस मामले की ठीक से छानबीन नहीं कर रही है। 

इससे पहले राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट करते हुए लिखा कि बड़ी संख्या में लोग चाहते हैं कि सुशांत की मौत के मामले की छानबीन केंद्रीय जांच ब्यूरो करे, लेकिन राज्य सरकार की इच्छा ऐसी नहीं है, ऐसे में कम से कम प्रवर्तन निदेशालय को मामला दर्ज कर पैसे के हेरफेर और मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े आरोपों की जांच करनी चाहिए।भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी लंबे समय से सुशांत की आत्महत्या के मामले की छानबीन करने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने यह भी आशंका जताई है कि यह हत्या का मामला हो सकता है।

दोस्त ने सुशांत के परिवार पर लगाया आरोप

सुशांत सिंह राजपूत के रूम मेट रहे सिद्धार्थ पिठानी ने अभिनेता के परिवार पर रिया के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। मुंबई पुलिस को ईमेल भेजकर पिठानी ने  बताया है कि उन्हें 22 जुलाई को सुशांत के परिवार से ओपी सिंह, नीतू सिंह और एक अनजान नंबर से कॉन्फ्रेंस कॉल आई थी। इस दौरान उनसे सुशांत के साथ रहने के दौरान रिया के खर्चों से जुड़े सवाल पूछे गए। 27 जुलाई को भी ओपी सिंह ने एक अनजान नंबर से फोन कर रिया चक्रवर्ती के खिलाफ बिहार पुलिस को बयान देने को कहा। पिठानी के मुताबिक उन्हें रिया के खिलाफ वह बयान देने को कहा जा रहा हैं जिसकी उन्हें जानकारी नहीं है। वहीं मामले में मुंबई और बिहार पुलिस के बीच लगातार खींचतान चल रही है। मुंबई पहुंची बिहार पुलिस के मंहगी गाड़ियों में घूमने का वीडियो वायरल होने के बाद अब उसके ऑटो में घूमने का वीडियो वायरल कर दावा किया जा रहा है कि मुंबई पुलिस सहयोग नही कर रही है। वही मुंबई पुलिस ने बिहार पुलिस के मामले में कूदने के बाद बयान दर्ज करने का सिलसिला बंद कर दिया है। जबकि बिहार पुलिस अब तक मामले में अंकिता लोखंडे समेत 6 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है।
 

खबरें और भी हैं...