दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोनावायरस: कोहली का अपने फैंस को मैसेज, कहा- COVID19 से बचने के लिए सुरक्षित और सतर्क रहें

March 14th, 2020

हाईलाइट

  • कोहली ने कहा- मजबूत रहें और कोविड-19 से निपटने के लिए जरूरी एहतियात बरतें
  • भारत और साउथ अफ्रीका के बीच लखनऊ और कोलकाता में होने वाले वनडे मैच रद्द

डिजिटल डेस्क, सिडनी। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने लोगों से कोरोनावायरस से बचने के लिए 'सतर्क' रहने की अपील की है। उन्होंने शनिवार को ट्वीट कर कहा, मजबूत रहें और सभी एहतियात बरतें और कोरोनावायरस (COVID19) से लड़ें। सुरक्षित रहें, सतर्क रहें और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि रोकथाम इलाज से बेहतर है। सभी अपना ध्यान रखें। बता दें कि, देश में अब तक इस वायरस के कारण 2 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 80 से ज्यादा लोग इस 'महामारी' से संक्रमित हैं। 

कोरोनोवायरस के कारण भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाली वनडे सीरीज के दूसरे और तीसरे वनडे मैच को भी रद्द कर दिया गया। 15 मार्च को लखनऊ और 18 मार्च को कोलकाता में ये मैच होने थे। इससे पहले इन दोनों वनडे को दर्शकों के बिना खेले जाने का फैसला किया गया था। तीन मैचों की सीरीज का पहला गेम भी धर्मशाला में बारिश के कारण रद्द हो गया था। BCCI ने शुक्रवार को कहा था- साउथ अफ्रीका टीम बाद में 3 वनडे की सीरीज खेलने के लिए भारत आएगी। जल्द ही दोनों बोर्ड इस सीरीज का नया शेड्यूल जारी करेंगे।

IPL के भी शेड्यूल में बदलाव
इससे पहले कोरोनावायरस के चलते इंडियन प्रीमियर लीग को भी 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है। पहले ये 29 मार्च से शुरू होने वाला था। फ्रेंचाइजियों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है। BCCI के एक अधिकारी ने शुक्रवार को कहा था कि, टूर्नामेंट को आयोजित कराने का सबसे सही तरीका यही है कि इसे 15 अप्रैल से शुरू किया जाए। वहीं फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा था, 'हां, हमें बता दिया गया है कि आईपीएल अब 15 अप्रैल से शुरू होगा, लेकिन हमें विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता को लेकर सफाई चाहते हैं। अगर हमारे चार विदेशी खिलाड़ी नहीं होंगे तो आईपीएल अपना वर्चस्व खो देगा क्योंकि भारतीय सितारों की तरह ही वह भी हमारी टीम का अहम हिस्सा हैं।

एक अन्य अधिकारी ने कहा, हमने अपनी टीम चार विदेशी खिलाड़ियों को ध्यान में रखकर बनाई है। अगर यह लीग भी बिना विदेशी खिलाड़ियों के खेली जाती है तो यह सैयद मुश्ताक अली, विजय हजारे ट्रॉफी की तरह ही घरेलू टूर्नामेंट बन जाएगा। इस लीग के वर्चस्व को बरकरार रखने के लिए जरूरी है कि विदेशी खिलाड़ी इसमें हों। जब यह बात आती है तो किसी तरह से विचारों में भिन्नता नहीं है। इस समय बिना दर्शकों के लीग को आयोजित करना सबसे सही विकल्प है।

खबरें और भी हैं...