comScore

भारत ने विंडीज से जीती लगातार 10वीं सीरीज, तीसरे वनडे में 4 विकेट से हराया

भारत ने विंडीज से जीती लगातार 10वीं सीरीज, तीसरे वनडे में 4 विकेट से हराया

हाईलाइट

  • वेस्टइंडीज ने पहले 315 रन बनाए, भारत ने 48.4 ओवर में 6 विकेट पर 316 रन बना लिए
  • विराट कोहली ने 85, लोकेश राहुल ने 77, रोहित शर्मा ने 63 और जडेजा ने नाबाद 39 रन बनाए
  • पोलार्ड ने नाबाद 74 और पूरन ने शानदार 89 रन की पारी खेली

डिजिटल ​डेस्क, कटक। विराट कोहली (85) की कप्तानी पारी की बदौलत टीम इंडिया ने तीसरे और निर्णायक मुकाबले में वेस्टइंडीज को चार विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत की यह लगातार 10वीं सीरीज जीत है। रविवार को कटक के बाराबती स्टेडियम में खेले गए मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने 50 ओवर में 5 विकेट गंवाकर 315 रन बनाए। इसके जवाब में भारत ने  48.4 ओवर में इस लक्ष्य को हासिल कर लिया।

भारत की ओर से विराट के अलावा केएल राहुल (77), रोहित शर्मा ने 63 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। वहीं, रविंद्र जडेजा (39) शार्दुल ठाकुर 17 रन बनाकर नाबाद लौटे। विंडीज की तरफ से कीमो पॉल ने तीन, जबकि अल्जारी जोसेफ, जेसन होल्डर और शेल्डन कॉट्रेल ने एक-एक विकेट अपने नाम किए।

विराट मैन ऑफ द मैच और रोहित मैन ऑफ द सीरीज

इस मुकाबले में शानदार पारी खेलने के लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच चुना गया। वहीं, टीम इंडिया के हिटमैन रोहित शर्मा को मैन ऑफ द सीरीज से नावाजा गया। रोहित ने इस पूरी सीरीज में एक शतक (159), और एक अर्धशतक के साथ 258 रन बनाए हैं।

पूरन और पोलार्ड ने विंडीज को बड़े स्कोर तक पहुंचाया

इससे पहले इस निर्णायक मुकाबले में भारत ने टॉस जीता और वेस्टइंडीज को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज ने निर्धारित 50 ओवर्स में पांच विकेट के नुकसान पर 315 रन बनाए। विंडीज की तरफ से किरोन पोलार्ड 51 ने गेंद पर 3 चौके और 7 छक्कों की मदद से नाबाद 74 रन बनाए और निकोलस पूरन 89 रन की जबरदस्त पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों के बीच 135 रन की बेहतरीन साझेदारी हुई। इसके अलावा शाई होप (42), रोस्टन चेज (38) और शिमरोन हेटमायर ने 37 रन बनाए। वहीं, भारत की तरफ से नवदीप सैनी ने दो, जबकि शमी, जडेजा और शार्दुल ठाकुर ने एक-एक विकेट चटकाए।

रोहित और राहुल ने शतकीय साझेदारी से दी ठोस शुरुआत

विंडीज के 315 रन के जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया को रोहित शर्मा और केएल राहुल की सलामी जोड़ी ने बेहतरीन शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर भारत के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया। मगर 21.2 ओवरों में भारत को हिचमैन रोहित के रूप में पहला झटका लगा। जेसन होल्डर ने रोहित को शाई होप के हाथों कैच आउट कराकर अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। रोहित ने 63 गेंदों में आठ चौके और एक छक्के की मदद से 63 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। पहले विकेट के लिए राहुल और रोहित के बीच 122 रन की साझेदारी हुई।

टीम इंडिया का युवा मध्यक्रम लड़खड़ाया

रोहित के आउट होने के बाद केएल राहुल ने कप्तान विराट कोहली के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया, लेकिन 29.5 ओवर्स में अल्जारी जोसेफ ने राहुल को शाई होप के हाथों कैच आउट कराकर भारत को दूसरा झटका दिया। राहुल 89 गेंदों में आठ चौके और एक छक्के की मदद से 77 रन की शानदार पारी खेली। दूसरे विकेट के लिए विराट और राहुल के बीच 45 रन की साझेदारी हुई। इसके कुछ ही देर बाद कीमो पॉल ने श्रेयस अय्यर (7) को जोसेफ के हाथों कैच आउट कराकर भारत को तीसरा झटका दिया। 35वें ओवर की आखिरी गेंद पर कीमो पॉल ने अपनी टीम को सफलता दिलाई। पॉल ने विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (7) को आउट किया। अय्यर के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए केदार जाधव (9) को शेल्डन कॉट्रेल ने बोल्ड कर दिया। इसके साथ ही भारत की आधी टीम पवेलियन लौट गई।

विराट का 55वां अर्धशतक 

यहां से टीम इंडिया की जीत का पूरा दारोमदार विराट और जडेजा ने मिलकर टीम इंडिया की पारी को संभाला, लेकिन 46.1 ओवर में भारत को विराट कोहली के रूप में सबसे बड़ा झटका लगा। वह अपने 44वें वन-डे अंतररराष्ट्रीय शतक से चूक गए। उन्हें कीमो पॉल ने अपना शिकार बनाया। 51 गेंदों में फिफ्टी पूरी करने वाले कोहली ने 81 गेंदों में नौ चौके की मदद से 85 रन की शानदार पारी खेली। वनडे करियर में विराट का यह 55वां अर्धशतक है।

कोहली इस साल सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज

कोहली 85 रन की पारी के दौरान रोहित शर्मा को पीछे छोड़ते हुए इस साल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। उन्होंने तीनों फॉर्मेट को मिलाकर कुल 2455 रन बनाए। वहीं रोहित  2442 रन बनाकर दूसरे स्थान पर रहे। कोहली के वनडे में इस साल 1377 रन हैं। इस मामले में वे रोहित से पीछे रहे। रोहित ने साल 2019 में वनडे फार्मेट में सबसे ज्यादा 1490 रन बनाए। 

7वें नंबर पर पहुंचे विराट जैक कैलिस को पीछे छोड़ा

विराट कोहली वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने की सूची में 7वें स्थान पर पहुंच गए हैं। इस मामले में अब उनसे आगे क्रमश: सचिन तेंदुलकर, कुमार संगकारा, रिकी पोंटिंग, सनथ जयसूर्या, महेला जयावर्धने और इंजमाम-उल-हक हैं। उन्होंने जैक कैलिस को पीछे छोड़ा।

1. सचिन तेंदुलकर (भारत) - 18426
2. कुमार संगकारा (श्रीलंका) - 14234
3. रिकी पोंटिंग (ऑस्ट्रेलिया) - 13704
4. सनथ जयसूर्या (श्रीलंका) - 13430
5. महेला जयावर्धने (श्रीलंका) - 12650
6. इंजमाम-उल-हक (पाकिस्तान) - 11739
7. विराट कोहली (भारत) - 11609
8. जैक कैलिस (दक्षिण अफ्रीका) - 11579
9. सौरव गांगुली (भारत) - 11363
10. राहुल द्रविड (भारत) - 10889

रोहित ने जयसूर्या का 22 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा

रोहित अपनी पारी में 9 रन बनाते ही एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले ओपनर बन गए। उनके 2442 रन हो गए हैं। रोहित ने श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या का रिकॉर्ड तोड़ा। जयसूर्या ने 1997 में बतौर ओपनर 2387 रन बनाए थे।

नवदीप ने डेब्यू मैच में दो विकेट लिए

इविन लुईस 21 रन बनाकर पहले विकेट के तौर पर आउट हुए। जडेजा की गेंंद पर नवदीप ने उनका कैच लिया। लुईस ने होप के साथ पहले विकेट के लिए 57 रन की साझेदारी की थी। होप 42 रन बनाकर पवेलियन लौटे। मोहम्मद शमी ने उन्हें बोल्ड किया। हेटमायर 33 गेंद पर 37 रन बनाकर पवेलियन लौटे। नवदीप ने उन्हें कुलदीप यादव के हाथों कैच कराया। यह उनका वनडे में यह पहला विकेट है। उन्होंने इसके बाद रोस्टन चेज को बोल्ड कर दिया। चेज ने 48 गेंद पर 38 रन बनाए।

होप एक कैलैंडर ईयर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे वेस्टइंडियन

शाई होप वेस्टइंडीज के लिए एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज हैं। उन्होंने इस साल 1345 रन बनाए। इस मामले में पहले स्थान पर पूर्व कप्तान ब्रायन लारा हैं। लारा ने 1993 में 1349 रन बनाए थे। होप उनका रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए। इस मामले में तीसरे स्थान पर डेसमंड हेंस हैं। उन्होंने 1985 में 1232 रन बनाए थे।

कमेंट करें
NTkvU