comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

IPL-13: डबल हेडर के दूसरे मैच में आज दिल्ली-कोलकाता के बीच होगी भिड़ंत

IPL-13: डबल हेडर के दूसरे मैच में आज दिल्ली-कोलकाता के बीच होगी भिड़ंत

हाईलाइट

  • डबल हेडर का दूसरा मैच दिल्ली और कोलकाता के बीच शारजाह में खेला जाएगा
  • मैच का प्रसारण भारतीय समयानुसार शाम 7:30 बजे से होगा

डिजिटल डेस्क, अबू धाबी। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन के पहले डबल हेडर (एक दिन में 2 मैच) का दूसरा और लीग का 16वां मैच आज दिल्ली कैपिटल्स (DC) और कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के बीच शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। मैच का प्रसारण भारतीय समयानुसार शाम 7:30 बजे से होगा। दिल्ली और कोलकाता का लीग स्टेज में अब तक प्रदर्शन एक जैसा रहा है। दोनों टीमों ने अपने पिछले 3 मैचों में 2-2 जीत दर्ज की और 1-1 मैच हारे हैं। प्वाइंट्स टेबल की बात करें तो दिल्ली 4 अकों के साथ दूसरे और कोलकाता भी इतने ही अंकों के साथ तीसरे नंबर पर है। अब दोनों टीमों की नजर लीग में अपनी तीसरे जीत दर्ज करने पर होंगी। 

बता दें की, इस मैच में दिल्ली इस सीजन की पहली हार झेलने के बाद आ रही है, जबकि कोलकाता ने राजस्थान रॉयल्स जैसी मजबूत टीम को मात दी थी। दिल्ली का मजबूत बल्लेबाजी क्रम पिछले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की नपी तुली गेंदबाजी के सामने 163 रनों का लक्ष्य भी हासिल नहीं कर सका था। एक हार के बाद हालांकि किसी भी टीम को हल्के में लेना गलती होगी और कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक इस बात को जानते हैं। कार्तिक ने पिछले मैच में जिस तरह से कप्तानी की थी और अपने गेंदबाजों का अच्छे से इस्तेमाल किया था, उस पर दिल्ली ने नजर रखी होगी और निश्चित तौर पर रणनीति भी बनाई होगी।

दिल्ली को पंत, धवन और शॉ से प्रदर्शन जारी रखने की उम्मीद
दिल्ली की बल्लेबाजी में उसका बड़ा नाम ऋषभ पंत का प्रदर्शन इस सीजन एक बड़ी पारी दरकार में है। पंत के बल्ले से उस तरह की पारियां नहीं निकली हैं जिनके लिए वो मशहूर हैं। युवा पृथ्वी शॉ एक अर्धशतक जड़ चुके हैं। शिखर धवन का बल्ला भी चल रहा है। यही हाल बाकी के बल्लेबाजों का। दिल्ली के बल्लेबाजों ने अभी तक संयुक्त रूप से अच्छा किया है लेकिन किसी भी बल्लेबाज ने स्डैंटआउट पारी नहीं खेली है। टीम प्रबंधन उम्मीद करेगा कि इस मैच में वो आए।

गेंदबाजी में दिल्ली बेहद मजबूत, रबाडा, एनरिक नोर्टजे अच्छा कर रहे हैं
गेंदबाजी में दिल्ली बेहद मजबूत है। कैगिसो रबाडा, एनरिक नोर्टजे अच्छा कर रहे हैं। पिछले मैच से ईशांत शर्मा की वापसी हुई थी और उनके आने से रबाडा को जरूरी अनुभव और समर्थन मिला है। स्पिन में आईपीएल इतिहास के सबसे सफल स्पिनरों में से एक अमित मिश्रा भी टीम के लिए उपयोगी रहे हैं, लेकिन रविचंद्रन अश्विन आते हैं तो मिश्रा को ड्रेसिंग रूप में बैठना पड़ सकता है।

कोलकाता को शुभमन गिल और पैट कमिंस से अपनी फॉर्म जारी रखने की उम्मीद
वहीं, कोलकाता ने अपना संतुलन एक तरह से वापस हासिल कर लिया है। शुभमन गिल फॉर्म में हैं। इयोन मोर्गन, आंद्रे रसेल भी धीरे-धीरे लय में आ रहे हैं। चिंता है तो गिल के साथ एक अच्छी सलामी जोड़ीदार तलाशने की। सुनील नरेन पूरी तरह से विफल रहे हैं। यहां राहुल त्रिपाठी और खुद कप्तान दिनेश कार्तिक एक अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं। कार्तिक का बल्ला चल नहीं रहा है और ऐसे में बल्लेबाजी क्रम में बदलाव उनके लिए कारगार साबित हो सकता है। गेंदबाजी में तो कोलकाता के पास पैट कमिंस के अनुभव के अलावा शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी की युवा जोड़ी है जो बेहद असरदार साबित हो रही है। स्पिन में कुलदीप यादव, सुनील नरेन और वरुण चक्रवर्ती की तिकड़ी भी अच्छा कर रही है।

मैदान छोटा है एक बार फिर यहां रनों की बारिश देखने को मिल सकती है
यह मैदान छोटा है और इसी मैदान पर राजस्थान रॉयल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ आईपीएल इतिहास में रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत हासिल की थी। एक बार फिर यहां रनों की बारिश देखने को मिल सकती है क्योंकि दोनों टीमों के पास बड़े शॉट्स खेलने वाले तूफानी बल्लेबाज हैं।

हेड-टु-हेड
पिछले 3 मैचों की बात करें, तो कोलकाता के खिलाफ दिल्ली ने तीनों मैच जीते हैं। वहीं दोनों टीमों के बीच IPL में अब तक 25 मैच खेले गए हैं। जिसमें से कोलकाता ने 13 और दिल्ली ने 11 मैच जीते हैं।  

टीमें  :

दिल्ली कैपिटल्स (DC): श्रेयस अय्यर (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, एलेक्स कैरी, जेसन रॉय, पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), शिखर धवन, शिमरन हेटमायेर, अक्षर पटेल, क्रिस वोक्स, ललित यादव, मार्कस स्टोइनिस, कीमो पॉल, अमित मिश्रा, आवेश खान, हर्षल पटेल, ईशांत शर्मा, कागिसो रबाडा, मोहित शर्मा, रविचंद्रन अश्विन, संदीप लामिछाने, तुषार देशपांडे।

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) : दिनेश कार्तिक (कप्तान), आंद्र रसेल, सुनील नरेन, कुलदीप यादव, शुभमन गिल, लॉकी फग्र्यूसन, नीतीश राणा, रिंकू सिंह, प्रसिद्ध कृष्णा, संदीप वॉरियर, अली खान, कमलेश नागरकोटी, शिवम मावी, सिद्देश लाड, पैट कमिंस, इयोन मोर्गन, टॉम बेंटन, राहुल त्रिपाठी, वरुण चक्रवर्ती, एम. सिद्धार्थ, निखिल नाइक, क्रिस ग्रीन।

कमेंट करें
C0Ve7
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।